हमारे संत

अपने तन, मन और आत्मा में सामंजस्य स्थापित करें

आत्मा

पहला कदम है सुदर्शन क्रिया सीखना, जो कि एक शक्तिशाली तकनीक है।  हमारे शरीर, मन और आत्मा को शुद्ध करने की और इन सबको सामंजस्य में लाने की।  यह हमें अपने संचित तनाव को प्राकृतिक और प्रभावपूर्ण रूप से निस्तार करने की क्षमता देती है। मौन का अभ्यास – मानसिक ...

Read More »

अंधेरा कितना भी हो उसकी चिंता मत करोः ओशो

अंधेरा

अंधेरा कितना ही हो, चिंता न करो। अंधेरे का कोई अस्तित्व ही नहीं होता। अंधेरा कम और ज्यादा थोड़े ही होता है; पुराना-नया थोड़े ही होता है। हजार साल पुराना अंधेरा भी, अभी दीया जलाओ और मिट जाएगा। और घड़ी भर पुराना अंधेरा भी, अभी दीया जलाओ और मिट जाएगा। ...

Read More »

घर बेटी जन्मे तो शगुन मनाओ: मोरारी बापू

घर बेटी जन्मे

मुरारी बापू ने व्यास पीठ से आवाहन किया है कि हरहाल में हम सबको, पूरे विश्व को मिलकर कन्या भ्रूण हत्या को रोकना होगा। बापू ने कहा कि सभी घर में बेटा पैदा होने पर खुशी मनाते है मगर घर बेटी जन्मे तो सबकों शगुन मनाना चाहिए। बापू ने कहा ...

Read More »

दोषारोपण का स्वागत करो 

दोषारोपण

कैसा लगता है जब कोई तुम पर दोषारोपण करता है? सामान्यत: जब कोई तुमको दोष देता है तुम बोझिल और खिन्न महसूस करते हो या दुखी हो जाते हो। तुम आहत होते हो क्योंकि तुम आरोपों का प्रतिरोध करते हो। बाहरी तौर पर तुम विरोध न भी करो परंतु अन्दर ...

Read More »

आनंद की प्राप्ति के लिए कृष्‍ण का ध्‍यान करें

आनंद

तो किसी भी मनुष्य के लिए हर रोज़ प्रेम और आनंद में जीना, सुबह जागने से लेकर रात में सोने तक केवल इतना करना, ये ही जबरदस्त साधना है। जब लोग अन्य लोगों से घिरे होते हैं तो वे मुस्कुरा रहे होते हैं। पर आप अगर उन्हें अकेले में देखें, ...

Read More »

मूर्ति पूजा का विज्ञान और रहस्य

मूर्तिपूजा

जिन लोगों ने भी मूर्ति विकसित की होगी, उन लोगों ने जीवन के परम रहस्य के प्रति सेतु बनाया था। मूर्तिपूजा शब्द सेल्फ कंट्राडिकटरी है। इसीलिए जो पूजा करता है वह हैरान होता है कि मूर्ति कहां? और जिसने कभी पूजा नहीं की वह कहता है कि इस पत्थर को ...

Read More »

कैसे अपने बच्चों से अच्छा संवाद स्थापित करें

अच्छा संवाद

अपने बच्‍चों से कैसे अच्‍छा संवाद स्‍थपित करें, जो बच्चों पर, उनके व्यवहार पर और उनको प्रभावित करने वाले मुद्दों पर प्रकाश डालती है। बच्चो को समझने और  उनको उत्तर देने का तरीका, बच्चों का पालन दृढ़ता से, निष्पक्षता से, और मस्ती के साथ कैसे करे, यह सब कार्यशाला में ...

Read More »

सुखी रहने का सफल मंत्र

सफल मंत्र

सुखी रहने का सफल मंत्र बताते हुए ओशो जी कहते हैं दुख पर ध्यान दोगे तो हमेशा दुखी रहोगे, सुख पर ध्यान देना शुरू करो। दअसल, तुम जिस पर ध्यान देते हो वह चीज सक्रिय हो जाती है। ध्यान सबसे बड़ी कुंजी है। दुख को त्यागो। लगता है कि तुम ...

Read More »

विस्मय से जागरूकता आती है

विस्मय

विस्मय आध्यात्मिक उद्घाटन का आधार है। ये कितना अद्भुत है कि सृष्टि सर्वत्र आश्चर्यजनक वस्तुओं से भरी पड़ी है। लेकिन हम इन्हें अनदेखा कर देते हैं। तभी हम में जड़ता का उदय होने लगता है और साथ में सुस्ती आती है। तमस का कार्य शुरू हो जाता है, निष्क्रियता आने ...

Read More »

परमात्मा सभी मजबूरियांं मिटा देता है

शिव की तीन आंखे

मोरारी बापू ने कहा कि भगवान शिव की तीन आंखे है। दांयी आंख सत्य की आंख है, बांयी करूणा की आंख है, बीच की आंख प्रेम की आंख है जो अग्निरूपा है। बापू ने मानस प्रेम की रसधार बहाते हुए कहा कि प्रेम एक आग है इसमें उतरकर ही परमात्मा ...

Read More »
LIVE TV