Friday , July 21 2017

अखिलेश ने दिया पिता मुलायम को धोखा, मुर्दों के साइन सौंपे चुनाव आयोग को !

मुलायमलखनऊ। समाजवादी पार्टी में चल रहा घमासान खत्म होने का नाम नहीं ले रहा। पार्टी की लड़ाई अब पिता-पुत्र की लड़ाई में बदल गई है। मुलायम भले बेटे अखिलेश के प्रति पिछले दिनों कुछ नरम दिखे हों, पर आयोग में सुनवाई के दौरान उनका और उनके वकीलों का रुख साफ इशारा कर रहा था कि वह किसी हाल में न झुकने को तैयार हैं, न किसी तरह का समझौता करने को राजी हैं और ‘साइकल’ हासिल करने के लिए वह हर तरह के दांव-पेंच आजमाएंगे।

आयोग में अपना पक्ष रखते हुए मुलायम के वकीलों ने अखिलेश खेमे की ओर से चुनाव आयोग में जमा किए गए हलफनामों की सत्यता पर गंभीर सवाल उठाए। उन्होंने अपनी दलील में कहा कि अखिलेश यादव के समर्थन में जो हलफनामे सौंपे गए हैं, उनमें कुछ ऐसे लोगों के भी साइन हैं जो इस दुनिया में अब नहीं हैं, और कुछ ऐसे हैं जो कोमा में हैं।

मुलायम कैंप के एक वकील ने यह भी बताया कि ज्यादातर हलफनामों में ‘हेल्ड’ शब्द को हर जगह ‘हेल्प’ लिखा गया है, जिससे पता चलता है कि इन्हें सिर्फ कटपेस्ट किया गया है और बड़ी संख्या में पेपरों को जमा कराने का मकसद सिर्फ यह कि आयोग को इन्हें देखने में ज्यादा वक्त लगे और उन्हें अतिरिक्त समय मिल जाए। बता दें कि अखिलेश गुट की ओर से एक लाख से ज्यादा पेपर चुनाव आयोग में जमा किए गए थे। कहा गया था कि इनमें पार्टी के उन सांसदों, विधायकों, एमएलसी और प्रतिनिधियों के हलफमाने शामिल हैं, जो लखनऊ में हुए उस अधिवेशन में शामिल हुए थे जिसमें अखिलेश को राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित किया गया था।

 

 

LIVE TV