बैंकर ने ब्याजखोर नगरवासियों को करोड़ों रुपये का चूना लगाया

exclusiveबिजनौर
चान्दपुर- नगर के ढाली बाज़ार स्थित एक बैंकर द्वारा ब्याजखोर नगरवासियों के करोड़ों रुपये का चूना लगा कर भाग जाने का मामला प्रकाश में आया है।नगर के ढाली बाज़ार स्थित एक पुश्तैनी बैंकर के दो पोतों ने ज्वैलर्स व बैंकर्स की दूकान कई वर्षो से खोल रखी थी।जो क़रीब बीस वर्षो से लोगो को ब्याज पर पैसा देने का काम करते थे।उनके इस काम में नगर के कई सफेदपोश ब्याज खोर अपना काला धन इनको देकर हर महीने बैंकर्स से मोटी रक़म लेते थे। यह गोरख धंधा अनेक वर्षो से चल रहा था। जिस कारण नगरवासियों को उनपर विशवास हो गया था और बैंकर ब्याज पर रुपये लेने वालों तथा ब्याज पर रुपये चलाने वालों से खूब धन अर्जित कर रहता था।किन्तु विपरीत काले विनाश बुद्धि या यह कहिये की नीयत में खोट आने की वजह से यह बैंकर्स अपने परिवार सहित लोगों का क़रीब 25 करोड़ रुपया लेकर नो दो ग्यारह हो गया।जिसके कारण अपना रुपया ब्याज पर चलाने वाले सफेदपोशो के होश उड़े हुए है।विदित हो उक्त बैंकर्स के चाचा भी कई वर्षों पूर्व लोगों का रुपया लेकर नो दो ग्यारह हो गये थे।नगर के सफेदपोशो का क़रीब 25 करोड़ रुपये लेकर बैंकर्स के परिवार सहित भाग जाने से किसी भी सफेदपोश ने अपने नम्बर दो के रुपयो  लेकर मारे डर से स्थानीय कोतवाली में  रिपोर्ट तक दर्ज नही कराई है ।सूत्र बताते हैं।कि उक्त बैंकर्स को स्थानीय नेताओ का सरंक्षण प्राप्त था।तथा एकबार चोरी के आभूषण खरीदने को लेकर बाहरी पुलिस ने छापा मारी की थी।किन्तु स्वर्णकार यूनियन और स्थानीय नेताओं के बीच में आजाने से पुलिस को खाली हाथ वापस लौटना पड़ा था।अब ये नेता और यूनियन के लोग गांधी जी के बन्दरों की तरह अपना मुंह बन्द किये बैठे है।

=>
LIVE TV