Wednesday , October 17 2018

राजनीतिक उठापटक में फेल हुआ 2019 का प्लान, फिर बिखर जाएगा विपक्षियों का सुनहरा सपना

पटना। बिहार में एक लोकसभा सीट और दो विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में भभुआ विधानसभा सीट को लेकर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस पार्टी आमने-सामने आ गई है, जिससे पूरे देश में विपक्षियों को एक करने के प्रयास को एक बार फिर झटका लगा है।

श्रीनगर : 32 घंटे ताबड़तोड़ चला सेना का एनकाउंटर, दोनों आतंकी ढेर

भभुआ विधानसभा सीट

बिहार कांग्रेस विधायक दल के नेता सदानंद सिंह ने यहां मंगलवार को स्पष्ट कर दिया कि राजद अगर भभुआ सीट पर अपने उम्मीदवार उतारती भी है, तब भी कांग्रेस अपना उम्मीदवार उतारेगी।

अब पाकिस्तान में भी आतंकियों की उल्टी गिनती शुरू, राष्ट्रपति ममनून ने अध्यादेश पर किए दस्तखत

राजद द्वारा तीनों सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा को गठबंधन धर्म के विपरीत बताते हुए उन्होंने कहा, “एकतरफा कोई दल निर्णय ले ले तो यह गठबंधन धर्म नहीं हैं। मैं आलाकमान से कहना चाहता हूं कि पार्टी को भी यहां प्रत्याशी उतारने की इजाजत दी जाए, इस बार अपनी-अपनी शक्ति की आजमाइश हो जाए।”

राजस्थान उपचुनाव में जीत से उत्साहित कांग्रेस के नेता ने तो राजद को चुनौती देते हुए कहा कि कांग्रेस अब राजद को अपनी ताकत दिखाएगी।

उन्होंने कहा, “भभुआ सीट पर कांग्रेस का प्रत्येक कार्यकर्ता चुनाव लड़ना चाहता है। हम लोग इस स्थिति में हैं कि भभुआ सीट पर राजद के उम्मीदवार के मैदान में होने के बावजूद हम विजयी होंगे।”

उल्लेखनीय है कि राज्य के अररिया लोकसभा तथा भभुआ व जहानाबाद विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव की घोषणा हो चुकी है। 11 मार्च को यहां मतदान होना है।

देखें वीडियो :-

=>
LIVE TV