पर्यटन

यहां भक्‍त की अर्जी पढ़ते हैं भगवान, मुराद पूरी होने पर चढ़ाते हैं घंटी

गोलू देव का मन्दिर

अपनी अलौकिक छटा के कारण पर्यटकों के बीच प्रसिद्ध उत्तराखण्ड धार्मिक दृष्टि से भी बेहद महत्वपूर्ण है। यहां के पावन तीर्थों के कारण ही इसे देव भूमि पुकारा जाता है और यहां के विशेष मंदिर और उनकी कथाएं पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। अल्मोड़ा जिले में दुनिया का अपने आप ...

Read More »

देवदार के जंगलों में हैं महादेव, पूरी करते हैं हर मनोकामना

देवदार

उत्तराखंड के अल्मोड़ा से 35 किलोमीटर दूर स्थित देवदार के जंगलाें में जागेश्वर धाम के प्राचीन मंदिर प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर इस क्षेत्र को अध्यात्मिक भक्ति का केंद्र बनाये हुए हैं। यहां लगभग 250 मंदिर हैं, जिनमें से एक ही स्थान पर छोटे-बडे 224 मंदिर स्थित हैं। प्राचीन कुबेर का ...

Read More »

यहां से कोई नहीं लौटा निराश, नवाब मंसूर ने भी टेका माथा

हनुमानगढ़ी मंदिर

अयोध्या घाटों और मंदिरों की प्रसिद्ध नगरी है। सरयू नदी यहाँ से होकर बहती है। सरयू नदी के किनारे 14 प्रमुख घाट हैं। इनमें गुप्तद्वार घाट, कैकेयी घाट, कौशल्या घाट, पापमोचन घाट, लक्ष्मण घाट आदि विशेष उल्लेखनीय हैं। इस नगर में रामजन्मभूमि-स्थल की बड़ी महिमा है। सरयू के निकट नागेश्वर ...

Read More »

मां के इस मंदिर से कोई भक्‍त नहीं लौटता निराश

चंद्रिका देवी मंदिर

कभी अवध प्रांत की और अब उत्तर प्रदेश की राजधानी के रूप में हिन्दुस्तान की राजनीतिक गतिविधियों का केंद्र मानी जाने वाली, लखनऊ नगरी में अंग्रेजों और अवध के नवाबों के ऐश्वर्य की चुगली करती बारादरी, छतर मंजिल, इमामबाड़ा रेजीडेन्सी और चारबाग स्टेशन जैसी इमारतों की गरिमा में डूबी इस ...

Read More »

देवभूमि के इसी तीर्थ में रहते हैं शिव-पार्वती, दर्शन करने से मिलता है मोक्ष  

बागेश्वर

देहरादून : उत्तराखंड राज्य के बागेश्वर को भगवान शिव के कारण तीर्थराज भी कहा जाता है। सरयू और गोमती का भौतिक संगम होने के साथ-साथ सरस्वती का मिलन भी यहीं होना बताया जाता है। हां, सरस्वती यहां गुप्त रूप से निवास करती हैं। उत्तरायण शुरू होते ही प्रयाग की तरह ही यहां भी ...

Read More »

काशी के दो हनुमान मंदिर जहां होती है भक्‍त की हर मुराद पूरी

तुलसीदास

बनारस, वाराणसी और काशी जैसे नामों से विख्‍यात मंदिरों और घाटों की यह धरती न सिर्फ भारत की पहचान है बल्कि इसे भगवान शिव की धरती माना जाता है। तुलसीदास जी को काशी से बहुत लगाव था।  बताया जाता है कि जिसकी मृत्‍यु इस धरती पर होती है वह शिवलोक ...

Read More »

हनुमान के इस मंदिर में 11 मंगलवार चढ़ाएंगे चोला तो पूरी होगी मुराद

पंचमुखी हनुमान

पवन पुत्र हनुमान के दुनिया में हजारों की संख्या में मंदिर हैं लेकिन कुछ स्थान ऐसे हैं, जिनका सम्बन्ध सीधे हनुमान जी से रहा है | ऐसा ही एक मंदिर देवभूमि हरिद्वार में है । हरिद्वार में  पवित्र ब्रह्मकुंड से कुछ दूरी पर बिल्ब पर्वत की तलहटी में यह प्राचीन ...

Read More »

अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल के रूप में कम हो रहा है गोवा का रुतबा

अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल

पणजी| घरेलू पर्यटकों का प्रवाह बढ़ने से अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल के रूप में गोवा का मान धीरे-धीरे कम हो रहा है। यह बात यात्रा एवं पर्यटन उद्योग के एक बड़े अधिकारी ने कही। उन्होंने कहा कि इस तटीय राज्य को घरेलू और विदेशी पर्यटकों के बीच फिर से संतुलन बनाना ...

Read More »

धन-सम्‍पदा की चाहत हो तो जरूर करें काशी के इस मंदिर के दर्शन

बाला जी मंदिर

काशी और मंदिर एक दूसरे के पूरक ही नहीं बल्कि पहचान भी हैं। इसी काशी में बाला जी मंदिर है। इस प्राचीन जीवंत शहर में कल्पनाओं से अधिक मंदिर विद्यमान हैं। जिनमें देवी-देवताओं की प्रतिमा श्रद्धालुओं को सम्मोहित कर लेती है। इन मंदिरों से निकलने वाले मंत्रों, घण्ट-घड़ियालों की आवाज एवं ...

Read More »

काशी विश्‍वनाथ के दर्शन से मिट जाते हैं जीवन के कष्‍ट  

वाराणसी

अनेक नामों से जानी जाने वाली वाराणसी दुनिया की प्राचीनतम नगरियों में से एक है। वर्ष, महीने और सदियां गुजर गयीं किन्तु वाराणसी जहां की तहां बनी रही। वाराणसी माटी-पाथर का बना महज एक शहर नहीं अपितु आस्था विश्वास और मान्यताओं की ऐसी केन्द्र भूमि है जहां तर्को के सभी ...

Read More »
LIVE TV