Thursday , April 26 2018

प्रेरक प्रसंग

ये है जिंदगी में खुश रहने का इकलौता तरीका

विद्वान साधु

किसी नगर में एक विद्वान साधु रहता था। लोग उसके पास अपनी समस्याएं लेकर आते और समाधान पाकर प्रसन्नचित्त होकर लौट जाते। एक दिन एक सेठ साधु के पास आकर बोला, ‘महाराज, मेरे पास किसी चीज की कमी नहीं है फिर भी मेरा मन अशांत रहता है। कृपया बताएं कि ...

Read More »

सफर पर निकले एक लड़के की कहानी जो आपकी हंसी पर ब्रेक लगा देगी

रेलगाड़ी में सफ़र

एक बार एक लड़का और उसका पिता रेलगाड़ी में सफ़र कर रहे थे। वह लड़का बार-बार खिड़की से झांक रहा था और पेड़ पौधों को देखकर जोर-जोर से चिल्ला रहा था और हंस रहा था। पास ही में बैठा एक शादी-शुदा जोड़ा यह सब देख रहा था। तभी उस लड़के ...

Read More »

मन में लालच उफान मारता है तो ये कहानी आपकी आंखें खोल देगी

सऊदी अरब में बुखारी नामक एक विद्वान रहते थे। वह अपनी ईमानदारी के लिए मशहूर थे। एक बार वह समुद्री जहाज से लंबी यात्रा पर निकले। उन्होंने सफर के खर्च के लिए एक हजार दीनार अपनी पोटली में बांध कर रख लिए। यात्रा के दौरान बुखारी की पहचान दूसरे यात्रियों ...

Read More »

कहानी… एक घमंडी मूर्तिकार की जिसके लिए अपनी ‘कलाकारी’ ही कातिल बन गई

एक मूर्तिकार

एक मूर्तिकार उच्चकोटि की ऐसी मूर्तियाँ बनाता था, जो सजीव लगती थीं। लेकिन उस मूर्तिकार को अपनी कला पर बड़ा घमंड था। उसे जब लगा कि जल्दी ही उसक मृत्यु होने वाली है तो वह परेशानी में पड़ गया। यमदूतों को भ्रमित करने के लिये उसने एकदम अपने जैसी दस ...

Read More »

एक पंडित की कहानी… जिसे वेश्या ने दिया ‘गुरु-मंत्र’

पंडित जी

एक पंडित जी कई वर्षों तक काशी में शास्त्रों का अध्ययन करने के बाद अपने गांव लौटे। गांव के एक किसान ने उनसे पूछा, पंडित जी आप हमें यह बताइए कि पाप का गुरु कौन है? प्रश्न सुन कर पंडित जी चकरा गए, क्योंकि भौतिक व आध्यात्मिक गुरु तो होते ...

Read More »

उस मेंढक की कहानी जिसकी हिम्मत के सामने मौत भी हार गई

तालाब में दो मेंढक

एक बार की बात है कि किसी तालाब में दो मेंढक रहते थे जिनमें से एक बहुत मोटा था और दूसरा पतला| एक सुबह जब वे दोनों खाने की तलाश में निकले थे, अचानक एक दूध के बड़े बर्तन में गिर गये, जिसके किनारे बहुत चिकने थे और इसी वजह ...

Read More »

पढ़िए… वो कहानी जो असफल और निराश लोगों की जिंदगी बदल देगी

धर्म-कर्म के कामों

किसी दूर गाँव में एक पुजारी रहते थे जो हमेशा धर्म-कर्म के कामों में लगे रहते थे। एक दिन किसी काम से गांव के बाहर जा रहे थे तो अचानक उनकी नज़र एक बड़े से पत्थर पर पड़ी। उनके मन में विचार आया कितना विशाल पत्थर है, क्यूँ ना इस ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग : माता की सीख

प्रेरक-प्रसंग

दार्शनिक गुरजिएफ ने अपनी आत्मकथा में माता द्वारा दी गई एक बहुमूल्य संपदा का उल्लेख किया है, जिसके कारण वे अनेक भटकावों से बचे और आनंद भरे अनेकों अवसर पा सके। लिखा है कि मेरी माता ने मरते समय कहा, “किसी पर क्रोध आए तो उसकी अभिव्यक्ति चौबीस घंटे से ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग : संकल्प

प्रेरक प्रसंग

बात नेताजी सुभाषचंद्र बोस के बचपन की है जब वे स्कूल में पढ़ा करते थे। बचपन से ही वे बहुत होशियार थे और सारे विषयो में उनके अच्छे अंक आते थे, लेकिन वे बंगाली में कुछ कमजोर थे। बाकि विषयों की अपेक्षा बंगाली मे उनके अंक कम आते थे। एक ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग: भेद-भाव

बात सन 1885 की है। पूना के न्यू इंग्लिश हाईस्कूल में समारोह हो रहा था। प्रमुख द्वार पर एक स्वयंसेवक नियुक्त था, जिसे यह कर्तव्य-भार दिया गया था कि आनेवाले अतिथियों के निमंत्रण पत्र देखकर उन्हें सभा-स्थल पर यथास्थान बिठा दे। इस समारोह के मुख्य अतिथि थे मुख्य न्यायाधीश महादेव ...

Read More »
LIVE TV