रविवार , जून 24 2018

प्रेरक प्रसंग

इस कहानी में छिपा है दिमाग में कौंधते हर सवाल का राज़

प्रेरक-प्रसंग

एक साधु से किसी व्यक्ति ने कहा कि विचारों का प्रवाह उसे बहुत परेशान कर रहा है। उस साधु ने उसे निदान और चिकित्सा के लिए अपने एक मित्र साधु के पास भेजा और उससे कहा, “जाओ और उसकी समग्र जीवन-चर्या ध्यान से देखो। उससे ही तुम्हें मार्ग मिलने को ...

Read More »

जब एक शराबी ने पूछा, अंगूर अच्छे तो शराब बुरी क्यों?

संत तिरुवल्लुवर

बहुत पुरानी बात है। प्रसिद्ध संत तिरुवल्लुवर एक बार अपने शिष्यों के साथ कहीं चले जा रहे थे। रास्ते में आने-जाने वाले लोग उनके चरण स्पर्श करते हुए आगे की ओर बढ़ते जा रहे थे। तभी, एक शराबी झूमता हुआ उनके सामने आया और खड़ा हो गया। फिर उसने संत ...

Read More »

हाथ लगी सफलता का मोल उसके खोने के बाद ही पता चलता है

प्रेरक-प्रसंग

एक राजा वन भ्रमण के लिए गया। रास्ता भूल जाने पर भूख प्यास से पीड़ित वह एक वनवासी की झोपड़ी पर जा पहुँचा। वहाँ से आतिथ्य मिला जो जान बची। चलते समय राजा ने उस वनवासी से कहा- हम इस राज्य के शासक हैं। तुम्हारी सज्जनता से प्रभावित होकर अमुख ...

Read More »

मनुष्य तो सभी हैं लेकिन ऐसे लोग ही हैं असली इंसान

सज्जन व्यक्ति

एक नगर के नजदीक एक होटल था। जिसका मालिक दयालु और सज्जन व्यक्ति था। होटल अच्छी आमदनी देता था। उस सेठ का जीवन सुखी से चल रहा था। परिवार में उसके कोई नहीं था, माता-पिता का देहांत काफी समय पहले हो चुका था। उसका विवाह भी नहीं हुआ था। लालचंद्र ...

Read More »

इस उपाय से आपके विरोधी भी जिगरी दोस्त बन जाएंगे

परोपकारी साधु

एक राजा था। उसने एक सपना देखा। सपने में उससे एक परोपकारी साधु कह रहा था कि, बेटा! कल रात को तुम्हें एक विषैला सांप काटेगा और उसके काटने से तुम्हारी मृत्यु हो जाएगी। वह सर्प अमुक पेड़ की जड़ में रहता है। वह तुमसे पूर्व जन्म की शत्रुता का ...

Read More »

सांसारिक जीवन से दूर भागने वाले जरूर पढ़ें ये कहानी, बदल जाएगा नजरिया

एक साधक

बात बहुत पुरानी है। एक बार एक साधक साधना में लीन था। तभी उसी रास्ते से एक स्त्री अपने प्रिय से मिलने जा रही थी। वह प्रिय में इतनी खोई हुई थी, कि उसका पैर गलती से साधक को लग गया। तब साधक ने स्त्री से गुस्से में कहा, ‘क्या ...

Read More »

हंसी हर जगह मौजूद है बस हंसने के बहाने ढूंढिए

महर्षि कर्वे

कन्नड़ लेखक एच. योगनसिंहम ने महर्षि कर्वे की आत्मकथा ‘लुकिंग-बैक’ का कन्नड़ में अनुवाद किया था। उनसे सिर्फ पत्र व्यवहार द्वारा ही परिचय था पर महर्षि कर्वे से वह कभी मिले नहीं थे। एक बार जब वे पूना गए तो वे महर्षि कर्वे से भेंट करना चाहते थे। उनकी यह ...

Read More »

दुनिया की हर मुसीबत को झेलने की ताकत पानी है तो इसे जरूर पढ़ें

एक दिन एक छोटी सी लड़की अपने पिता को दुख व्यक्त करते-करते अपने जीवन को कोसते हुए यह बता रही थी कि उसका जीवन बहुत ही मुश्किल दौर से गुज़र रहा है। साथ ही उसके जीवन में एक दुख का समय जाता है तो दूसरा चला आ रहा है और ...

Read More »

दुनिया भर के झमेलों से मुक्ति पाने का ये है सरल उपाय

एक व्यापारी

एक व्यापारी था। उसके पास तीन ऊँट थे जिन्हें लेकर वो शहर-शहर घूमता और कारोबार करता था। एक बार कहीं जाते हुए रात हो गयी तो उसने सोचा आराम करने के लिए मैं सराय में रुक जाता हूं और सराय के बाहर ही अपने ऊँटो ने को बांध देता हूं। ...

Read More »

ऊपरवाला जब भी देता… देता छप्पर फाड़ के…

कुर्ते का एक बटन

एक बार राजा किसी गांव में प्रजा की समस्याओं को जानने के लिए भ्रमण पर निकले हुए थे। उसी दौरान राजा के कुर्ते का एक बटन टूट गया। राजा ने तुरंत मंत्री को बुलाया और आदेश दिया कि जाओ, इस गांव में से ही किसी अच्छे से दर्जी को बुला ...

Read More »
LIVE TV