Thursday , April 26 2018

प्रेरक प्रसंग

एक कहानी जो आपको असली आनंद पाने का तरीका सिखा देगी

मजदूर पत्थर

बहुत पुरानी बात है एक गांव में कुछ मजदूर पत्थर के खंभे बना रहे थे। तभी वहां से एक संत गुजरे। उन्होंने एक मजदूर से पूछा यहां क्या बन रहा है? उसने कहा देखते नहीं पत्थर काट रहा हूं? संत ने कहा हां, देख तो रहा हूं। लेकिन यहां बनेगा ...

Read More »

एक घटना… जिसने साबित कर दिया कि संसार में सबसे सुखी कौन?

राजा कुँवर सिंह

चाँदपुर इलाके के राजा कुँवर सिंह जी बड़े अमीर थे। उन्हें किसी चीज़ की कमी नहीं थी, फिर भी उनका स्वास्थ्य अच्छा नहीं था। बीमारी के मारे वे सदा परेशान रहते थे। कई वैद्यों ने उनका इलाज किया, लेकिन उनको कुछ फ़ायदा नहीं हुआ। राजा की बीमारी बढ़ती गई। सारे ...

Read More »

… जब एक साधारण मनुष्य योगी को सिखा गया साधना का असल पाठ

प्रेरक-प्रसंग

तपस्वी जाजलि श्रद्धापूर्वक वानप्रस्थ धर्म का पालन करने के बाद खड़े होकर कठोर तपस्या करने लगे। उन्हें गतिहीन देखकर पक्षियों ने उन्हें कोई वृक्ष समझ लिया और उनकी जटाओं में घोंसले बनाकर अंडे दे दिए। अंडे बढे़ और फूटे, उनसे बच्चे निकले। बच्चे बड़े हुए और उड़ने भी लगे। एक ...

Read More »

एक डॉक्टर की कहानी जिसने वो कर दिखाया जो पूरी दुनिया के लिए असंभव था

रॉजर बेनिस्टर

रॉजर बेनिस्टर ब्रिटेन के एक जाने माने डॉक्टर थे। उन्हें दौड़ने का बड़ा शौक था। जब भी अपने काम से उन्हें वक्त मिलता, वह दौड़ने का अभ्यास करते थे। वह अपने समय के तेज धावकों की सूची में शामिल थे। उन दिनों जितने भी तेज धावक थे, उनमें से कोई ...

Read More »

जाने-अनजाने किए गए पाप के लिए ये सजा देता है भगवान

एक समय एक राजा के दरबार में ब्राह्मणभोज का आयोजन किया गया। बड़ी संख्या में ब्राह्मणों को भोजन के लिए आमंत्रित किया गया और इसके लिए छप्पनभोग महल के खुले आंगन में बनवाए गए। उसी वक्त अनजाने में एक हादसा हो गया। खुले में पक रही रसोई के ऊपर से ...

Read More »

आंखो से बाते करना सीख लिया तो समझो जिंदगी जीना आ गया

प्रेरक-प्रसंग

एक बार एक संत अपने शिष्यों के साथ बैठे थे। अचानक उन्होंने सभी शिष्यों से एक सवाल पूछा। बताओ जब दो लोग एक दूसरे पर गुस्सा करते हैं तो जोर-जोर से चिल्लाते क्यों हैं? शिष्यों ने कुछ देर सोचा और एक ने उत्तर दिया : हम अपनी शांति खो चुके ...

Read More »

मृत्यु के समय मां दे गई वो हुनर जिसे साधना हर एक के बस की बात नहीं

प्रेरक-प्रसंग

दार्शनिक गुरजिएफ ने अपनी आत्मकथा में माता द्वारा दी गई एक बहुमूल्य संपदा का उल्लेख किया है, जिसके कारण वे अनेक भटकावों से बचे और आनंद भरे अनेकों अवसर पा सके। लिखा है कि मेरी माता ने मरते समय कहा, “किसी पर क्रोध आए तो उसकी अभिव्यक्ति चौबीस घंटे से ...

Read More »

जब लोग ऐसा मान लेते हैं कि यहां कोई नहीं देख रहा, तभी तो पाप होते हैं

प्रेरक-प्रसंग

अपनी बहन इलाइजा के साथ एक किशोर बालक घूमने निकला। रास्ते में एक किसान की लड़की मिली। वह सिर पर अमरूदों का टोकरा रखे हुए उन्हें बेचने बाज़ार जा रही थी। इलाइजा ने भूल से टक्कर मार दी, जिससे सब अमरूद वहीं गिरकर गन्दे हो गये। कुछ फूट गये, कुछ ...

Read More »

एक किसान की कहानी जिसने पेशवा बाजीराव को सिखाया बड़प्पन

बाजीराव पेशवा

बाजीराव पेशवा मराठा सेना के प्रधान सेनापति थे। एक बार वह किसी युद्ध में विजयी होकर सेना सहित राजधानी लौट रहे थे। रास्ते में उन्होंने मालवा में पड़ाव डाला। पूरी सेना बुरी तरह से थकी हुई थी। क्या सैनिक और क्या राजा, सभी भूख-प्यास से बेहाल थे, किंतु खाने के ...

Read More »

प्रसन्नता का रहस्य खोज रहे लोगों के सारे सवालों का जवाब देगी ये कहानी

एक भिखारी

सुबह होते ही, एक भिखारी नरेन्द्रसिंह के घर पर भिक्षा मांगने के लिए पहुँच गया। भिखारी ने दरवाजा खटखटाया, नरेन्द्रसिंह बाहर आये पर उनकी जेब में देने के लिए कुछ न निकला। वे कुछ दुखी होकर घर के अंदर गए और एक बर्तन उठाकर भिखारी को दे दिया। भिखारी के ...

Read More »
LIVE TV