सोमवार , जून 18 2018

प्रेरक प्रसंग

कभी न करें दूसरों को छोटा समझने की भूल, महंगा पड़ सकता है

एक संत

एक बार की बात है एक संत थे, वे अक्सर यात्रा पर रहते थे और उनका नियम था कि वे ऐसे ही लोगों के घर आश्रय लेते थे, जिनका अचार विचार अच्छा हो और घर पवित्र हो। इस बार उन्होंने वृन्दावन जाने का सोचा लेकिन पहुँचने से पहले ही जब ...

Read More »

अपनों को हमेशा खुश रखना ही सफलता की सबसे बड़ी कुंजी है

चंद्र प्रकाश के चार साल के बेटे को पंछियों से बेहद प्यार था। वह अपनी जान तक न्योछावर करने को तैयार रहता। ये सभी पंछी उसके घर के आंगन में जब कभी आते तो वह उनसे भरपूर खेलता। उन्हें जी भर कर दाने खिलाता। पेट भर कर जब पंछी उड़ते ...

Read More »

इस तरह के इंसान को दुख पहुंचाने से आता है प्रलय

एक गुरु

एक गुरु से एक बार शिष्य ने प्रश्न किया कि ‘ सुना है प्रलय बहुत बड़ी बला होती है। प्रलय में सारे संसार को खत्म करने की ताकत होती है। क्या आप बता सकते हैं कि प्रलय होता क्या है?’ यह सुनकर गुरु ने जवाब दिया कि ‘ तुम्हारा कहना ...

Read More »

जब नारद जी और पकौड़ीलाल में हो गई भिड़ंत, जानिए फिर क्या हुआ

नारदजी

नारदजी एक बार भ्रमण करते हुए भगवान शिव की नगरी वाराणसी जा पहुंचे। नगरी के मनोरम दृश्य देखकर उनका मन प्रसन्न हो गया। जब वे चौक बाजार से होकर जा रहे थे तो उनकी इच्छा तांबूल खाने की हुई। नारदजी को वाराणसी के पान की प्रसिद्धि का पता देवलोक में ...

Read More »

मन के हारे हार है… मन के जीते जीत

एक लड़का

एक बार की बात है, एक शहर में एक लड़का रहता था, स्कूल से आने के बाद वह अपने पिता के साथ काम पर जाया करता था। उसके पिता एक घोड़े के अस्तबल में काम करते थे। वह लड़का रोज ही देखता और सोचता था कि किस तरह उसके पिता ...

Read More »

चिंता नहीं चिंतन कीजिए… मिट जाएंगी सारी दिक्कतें

सम्राट समुद्रगुप्त

भारतवर्ष में सम्राट समुद्रगुप्त प्रतापी सम्राट हुए थे। लेकिन चिंताओं से वे भी नहीं बच सके और चिंताओं के कारण परेशान से रहने लगे। चिंताओं का चिंतन करने के लिए एक दिन वन की ओर निकल पड़े। वह रथ पर थे, तभी उन्हें एक बांसुरी की आवाज सुनाई दी। मीठी ...

Read More »

इसे पढ़कर आप भी जान सकेंगे जीवन का फलसफा

एक महात्मा बहुत विद्वान थे। उनके पास बहुत से लोग शिक्षा प्राप्त करने आते थे। लेकिन महात्मा खुद को कभी भी अधिक ज्ञानी नहीं समझते थे। वे खुद भी हमेशा दूसरों से कुछ न कुछ सीखते रहते थे। एक दिन उनके एक मित्र ने उनसे पूछा कि दुनियाभर के लोग ...

Read More »

यहां जानें, खुद को कितना पहचानते हैं आप!

आर्टिकल को रिजेक्ट

दि वल्ड्रस वर्क’ अखबार के संपादक थे ‘वाल्टर हाइन्स येज’। वह हर दिन कई आर्टिकल को रिजेक्ट करते या प्रकाशित करते थे। एक बार एक लेखिका ने उन्हें लिखा, ‘पिछले सप्ताह आपने मेरी कहानियां सखेद लौटा दीं। मेरा यह दावा है कि आपने मेरी कहानी को पढ़ा ही नहीं। मेरा ...

Read More »

पिता ने पुत्र को ऐसे सिखाया दोस्ती का असली मतलब

अनेक मित्र

एक लड़के के अनेक मित्र थे, जिसका उसे बहुत घमंड था। उसके पिता का एक ही मित्र था, लेकिन था सच्चा। एक दिन पिता ने बेटे को बोला कि तेरे बहुत सारे दोस्त है, उनमें से आज रात तेरे सबसे अच्छे दोस्त की परीक्षा लेते है। बेटा सहर्ष तैयार हो ...

Read More »

आपको भी सता रही भविष्य की चिंता, तो पढ़ें यह कहानी

संत करमानी

मुस्लिम संत करमानी की बेटी उनसे बढ़कर थी। उसकी सुंदरता और अच्छे स्वभाव की चर्चा शहंशाह तक पहुंच चुकी थी। शहंशाह ने तय किया कि वे अपने बेटे का निकाह करमानी की बेटी से कराएंगे। उन्होंने अपने खास दूत के साथ प्रस्ताव भेजा, लेकिन करमानी नहीं चाहते थे कि उनकी ...

Read More »
LIVE TV