2जी घोटाला: फैसला आते ही मुस्कुराए मनमोहन, भाजपा को दिखाई ‘गांधीगिरी’

नई दिल्ली| पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने 2जी स्पैक्ट्रम घोटाले पर गुरुवार को दिल्ली की स्थानीय अदालत के फैसले के बाद कहा कि अदालत द्वारा सभी आरोपियों को बरी करने का फैसले से सिद्ध होता है कि यह बिना किसी आधार के यूपीए के खिलाफ सबसे बड़ा दुष्प्रचार था। मनमोहन सिंह ने संवाददाताओं से कहा, “हम अदालत के फैसले का सम्मान करते हैं।”

2जी स्पैक्ट्रम घोटाले को बताया दुष्प्रचार

यह भी पढ़ें : नहीं हुआ कोई घोटाला! 2G केस में राजा-कनिमोझी समेत सभी आरोपी बरी

यह पूछे जाने पर कि क्या वह सही साबित हुए? सिंह ने कहा, “मैं इस पर ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहता। मुझे लगता है कि अदालत के फैसले का सम्मान किया जाना चाहिए और मुझे खुशी है कि अदालत ने स्पष्ट कर दिया है कि यह सब बिना किसी आधार के यूपीए के खिलाफ किया गया सबसे बड़ा दुष्प्रचार था।”

यह भी पढ़ें : 2जी पर फैसले से खुश हुआ डीएमके, भाजपा पर लगाई आरोपों की झड़ी

सिंह ने आगे कहा, “यह फैसला अपने आप में सब कहता है।”

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा दायर दोनों मामलों में विशेष न्यायाधीश ओ.पी. सैनी ने पूर्व दूरसंचार मंत्री ए.राजा और द्रमुक सांसद कनिमोझी सहित सभी अभियुक्तों को बरी कर दिया गया।

=>
LIVE TV