वो औरत जो करती थी भूतों से बातें! क्या है उसकी कहानी ?

भूतों का नाम सुनते ही क्या याद आता है. डरावनी फिल्में. रामसे ब्रदर्स टाइप नहीं. कंज्यूरिंग और एनाबेल जैसी असली डरावनी फिल्में. इन फिल्मों के कुछ कैरेक्टर आपको याद होंगे. जैसे भूतों से बात करने वाला कैरेक्टर.

ये कैरेक्टर जिस महिला से प्रेरित थे, उनका नाम लोरेन वॉरेन है. गुरुवार को उन्होंने इंसानी दुनिया को अलविदा कह दिया. वो 92 साल की थीं. उनके पोते ने उनकी मौत की पुष्टि की है. उसने ये भी बताया कि लॉरेन ने दुनिया को खुशी-खुशी छोड़कर गई हैं.

लॉरेन और उनके पति ऐडी भी स्प्रिट हंटिग का काम करते थे. दोनों करीब दस साल से एक साथ भूतों से बात करने और उनकी प्रॉब्लम सुलझाने का काम करते रहे. अपने काम को लेकर दोनों पूरी दुनिया में फेमस थे.

चीन: मुसलमानों की नजरबंदी पर खुद को बचाने की कोशिश कर रहा !

जब 2006 में एडी की मौत हुई, उसके बाद लॉरेन अकेली ये काम करने लगीं. लॉरेन और उनके पति ऐडी की जिंदगी हमारी आपकी जिंदगी से कहीं ज्यादा एड्वेंचरस थी. आइए जानते हैं उनकी जिंदगी से जुड़ीं कुछ मजेदार बातें.

 

-लॉरेन-ऐडी के भूतों से बतियाने के काम पर  एमिटीविल हॉरर सीरिज में 17 फिल्में और “द कॉन्ज्यूरिंग यूनिवर्स” में 5 फिल्में बनाई गईं.

-एडी ने एक इंटरव्यू में कहा था कि पांच से बारह साल की उम्र तक वो जिस घर में रहे. वो भूतिया था. उन्हें वहां से आत्माओं के आसपास होने का अहसास होने लगा था.

-ऐडी और लॉरेन ने 1952 में न्यू इंग्लैंड सोसायटी फोर सायकिक रिसर्च शुरू किया था. ताकि भूतों से बात कर सकें. इसके बाद उन्होंने दुनिया के कुछ बेहद डरावने और अजीबोगरीब मामलों में काम किया.

-लॉरेन ने कहा था कि ऐडी की मौत के बाद भी वो उनके आसपास होते हैं. ऐडी अक्सर उन्हें वहां मिलते थे, जहां वो साथ में डिनर करने जाते थे.

-लॉरेन और ऐडी ने कई बेहद डरावने केस सुलझाए थे. जिनपर बाद में उन्होंने कई किताबें भी लिखी.

-ऐडी और लॉरेन ने 1980 में म्यूजियम खोला था. इसमें पापी गुड़िया जैसी कुछ बेहद अजीबोगरीब चीजों का कलेक्शन था.

-एनाबेल फिल्म की तरह लॉरेन और ऐडी ने असल जिंदगी में एक मामला सुलझाया था. जिसमें एक भूत की आत्मा गुड़िया में होती है. वो उस गुड़िया को अपने साथ म्यूजियम में ले आए थे. और उसे उन्होंने कांच के केस में बंद करके रखा था.

 

=>
LIVE TV