वाराणसी में आयोजित वर्ल्ड कप स्ट्रांगमैन चैंपियनशिप में हिस्सा लेने दुनिया के 12 विश्व चैंपियन पहुंचे

एजेन्सी/strongest-men-championship_1460177325बेलारूस के विश्व चैंपियन पावरलिफ्टर लियोनिड टारानेंको और यूके के वर्ल्ड चैंपियन स्ट्रांगमैन मार्क फेलिक्स समेत दुनिया के 12 धुरंधर वर्ल्ड कप स्ट्रांगमैन चैंपियनशिप में नामुमकिन को मुमकिन करके दिखाने के लिए वाराणसी में डेरा जमाए हुए हैं।वर्ल्ड स्ट्रांगमैन फेडरेशन (डब्लूएसएफ) की देखरेख में आयोजित इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने दुनिया भर से खिलाड़ी शुक्रवार को रोहनिया के सनबीम डालिम्स स्कूल पहुंचे जहां शनिवार और रविवार को यह प्रतियोगिता होनी है।वर्ल्ड स्ट्रांगमैन फेडरेशन (डब्लूएसएफ) की देखरेख में आयोजित इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने दुनिया भर से खिलाड़ी शुक्रवार को रोहनिया के सनबीम डालिम्स स्कूल पहुंचे जहां शनिवार और रविवार को यह प्रतियोगिता होनी है।ये खिलाड़ी लांग लिफ्ट और कार होल्ड समेत सात अलग-अलग इवेंट में अपनी शारीरिक ताकत की नुमाइश करेंगे। विश्व विजेता को 20 हजार डालर का नगद इनाम मिलेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सेतु भारतम् परियोजना की शुरुआत की। इस दौरान उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए देश को विकास के पथ पर आगे बढ़ाने की बाद कही।दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान इस परियोजना का उद्घाटन किया गया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने लोगों को संबोधित करते हुए सड़क इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास और उसके लाभ के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि अगर देश को विकास के पथ पर दौड़ाना है तो उसके लिए सड़कों का विकास बहुत महत्वपूर्ण हैं।मोदी ने सड़क के अलावा रेल, पानी और बिजली जैसी मूलभूत सुविधाओं के विकास पर भी ध्यान देने की जरूरत है। मोदी ने रेलवे के इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास के बारे में भी चर्चा की। सेतु भारतम परियोजना को अगले चार साल (2019) तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

=>
LIVE TV