माघ मेला 2020: माघ मेले का आज आखिरी दिन, त्रिवेणी में लगाई लाखों श्रृद्धालुओं ने डुबकी

REPORT-SDYED/PRAYAGRAJ

एक महीने तक चलने वाले कल्पवास का समापन आज गंगा यमुना और अदृश्य सरस्वती के संगम पर माघी पूर्णिमा का स्नान पर्व है. सुबह से ही बड़ी संख्या में श्रधालुओं ने संगम के तट पर मोक्ष की कामना से आस्था की डुबकी लगा रहे है और अगले साल फिर से इस रेती पर आने का संकल्प भी ले रहे है.

माघ मेला 2020

आज के माघी पूर्णिमा स्नान के साथ ही श्रधालुओं का एक महीने का कल्पवास का  संकल्प भी पूरा हो गया. 43 दिनों तक माघ  मेले में पडने वाले अब तक पाच  प्रमुख स्नानों में करोड़ो श्रधालुओं ने आस्था की डुबकी लगाईं है.

त्रिवेणी में नहाने से धुलते हैं सारे पाप- 

मान्यता है कि आज के दिन भी 33 करोड़ देवी देवताओं का स्नान होता है।शास्त्रों में ऐसी मान्यता है की जो भी भक्त एक महीने गंगा यमुना और सरस्वती की त्रिवेणी में कल्पवास करता है उसके कई जन्मों के पाप धुल जाते है और वो मोक्ष पाता है.

कांग्रेस को आई किसानों की याद, अब चलाएगी विशेष किसान संवाद अभियान

साथ ही उसे कई अस्वमेघ यज्ञ के बराबर पुण्य फल की प्राप्ति होती है साथ ही त्रिवेणी मे स्नान करने से भक्तओ को  मोक्ष की प्राप्ति होती है। सुबह से ही श्राद्धालुओ जनसैलाब देखने को मिला, श्रद्धालु स्नान के बाद दान भी दे रहे है।

=>
LIVE TV