टिहरी झील को विश्व के मानचित्र पर उतारने में लगी टिहरी सरकार, लेकिन फिर…

REPORT – BALWANT RAWAT

टिहरी।  टिहरी सरकार टिहरी झील को विश्व  के मानचित्र पर उतारने की बात कर रही है लेकिन हकीकत ही कुछ और ही है। टिहरी झील में पर्यटकों को जाने के लिए रास्ते की कोई व्यवस्था नहीं है। पर्यटक अपनी जान जोखिम में डालकर झील में पहुँच रहे हैं।जिससे कभी भी बड़ी दुर्घटना होने से इनकार नहीं  किया जा सकता है।

टिहरी झील

टिहरी के कोटी कॉलनी मैं टिहरी झील मैं इन दिनों बाहर से पर्यटक  वोटिंग का लुत्फ उठाने के किये पहुँच रहे है। लेकिन वोटिंग पॉइंट मैं जाने के लिए रास्ता न होने से पर्यटक छलांग लगाकर एक दूसरे का सहारा लेकर झील मैं पहुँच रहे है। वही इस मामले मे जब लोगों से बात की गई तो लोगो ने कहा कि इस तरह की समस्या का समाधान किया जाना चाहिए।

गोली चलने से नगर में फैली दहशत, दो पक्षों के विवाद में युवक को लगी गोली

वही इस मामले मे वोट यूनियन के अध्यक्ष लखवीर चौहान का कहना है कि रास्ते निर्माण के लिए टिहरी झील प्रदिकर्ण के द्वारा उनसे प्रति वर्ष 60 हजार रुपए षुल्क लिया जाता है।

 

=>
LIVE TV