रेलवे स्टेशन आउटर पर फैल रहा है डंडा गैंग का खौफ़, आप भी हो सकते हैं शिकार

रिपोर्ट— शशांक दीक्षित
कानपुर।अगर आप त्यौहार के मौके पर ट्रेन में सफर करने की तैयारी कर रहे तो आपको सावधान रहने की जरुरत है। खासतौर पर उन यात्रियों को जो ट्रेन के पायदान पर बैठकर यात्रा करते है अगर आप ट्रेन के पायदान पर बैठकर यात्रा कर रहे है तो रेलवे स्टेशन के आउटर पर आपको शिकार बनाने के लिए डंडामार गैंग पहले से ही घात लगाए बैठा रहता है।

ट्रेन में सफर करने की तैयारी

आउटर पर ट्रेन की स्पीड काफी कम रहती है और डंडामार गैंग इसका फ़ायदा उठाकर पायदान पर बैठे यात्री को डंडा मारकर नीचे गिराकर मोबाइल और अन्य चीजे लूटकर फरार हो जाते है। इस खबर को बताने के पीछे हमारा मकसद आपको डराना नहीं है बल्कि आपको सावधान करना है।

ओडिशा ने सौर ऊर्जा का प्रयोग बढ़ाने के लिए योजना की लांच

त्यौहारों के समय ट्रेनों से सफर करने वाले यात्रियों का संख्या में काफी इजाफा होने लगता है और उसी दौरान लूटपाट करने वाले गिरोह भी सक्रीय हो जाता है। सबसे ज्यादा परेशानी उन यात्रियों को उठानी पड़ती है जो जरनल की टिकट लेते है और सीट ना मिल पाने पर वह या तो खड़े होकर यात्रा करते है या फिर ट्रेन के पायदान पर ट्रेनों के डिब्बों के पायदान पर बैठकर यात्रा करने वाले यात्रियों को डंडा गैंग डंडा मारकर नीचे गिरा देता है और उनका मोबाइल फोन और कीमती सामान लूटकर फरार हो जाता है। यह घटनाये सबसे ज्यादा आउटर पर उस समय घटित होती है जब ट्रेनों की स्पीड काफी स्लो हो जाती है |

चार दिन पहले सूरत मुजफ्फरपुर ट्रेन में सफर कर रहे एक यात्री जोकि ट्रेन के पायदान पर बैठकर यात्रा कर रहा था। यात्री पायदान पर बैठकर मोबाइल फोन से अपने परिजनों को आने की जानकारी दे रहा था। ट्रेन जैसे ही गंगापुल पारकर आउटर पर पहुंची पहले से ही घात लगाए बैठे डंडा गैंग के सदस्यों ने यात्री को डंडा मारकर नीचे गिरा दिया। जिसमे यात्री घायल हो गया। डंडा गैंग के सदस्यों ने उसका मोबाइल फोन और कीमती सामान चोरी कर फरार हो गए। यह वारदात संज्ञान में आते ही रेलवे राजकीय पुलिस हरकत में आयी और डंडा गैंग पर लगाम लगाने के लिए कई स्थानों को चिन्हित करके पुलिस चेकिंग अभियान तेज कर दिया गया है।

जिला प्रशासन का बड़ा खुलासा, प्राइवेट लोगों के पास निकली यह सरकारी चीज़

जीआरपी पुलिस रेल यात्रियों को इस गैंग के बारे में बताने के लिए इलेक्ट्रॉनिक गैजेट का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। इस गैजेट में कई तरह की सावधानी बरतने वाली आवाज फीड की गयी है। जीआरपी पुलिस के सिपाही प्लेटफार्म पर व ट्रेनों के अंदर इस आवाज को यात्रियों को सुनवाते है। जिससे यात्री सावधान रहता है। जीआरपी इन्स्पेक्टर का कहना है की त्यौहारों के मौके पर यात्रियों की संख्या बढ़ जाती हैा। यात्रियों की सुरक्षा के लिए आउटर पर पुलिस गस्त बढ़ा दी गयी है। इन्स्पेक्टर का कहना है की इस ग्रुप के कुछ लोगो को जेल भेजा गया है और कुछ नाबालिग है। जो इस तरह की वारदातों को अंजाम दे रहे है उनकी धरपकड़ की जायेगी।

हालाँकि राजकीय रेलवे पुलिस दावा कर रही है कि यात्रियों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए है लेकिन यात्रियों की जान उस समय जोखिम में आती है। जब ट्रेन आउटर पर पहुंचकर बिलकुल स्लो स्पीड में हो जाती है और डंडामार गैंग इसका फायदा उठाता है।

=>
LIVE TV