Wednesday , September 26 2018

पीएम मोदी ने मानी महबूबा की बात, रमजान में सेना नहीं चलाएगी सर्च ऑपरेशन

नई दिल्ली। जन्नत में सेना के द्वारा नरमी बरतने वाले मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के आग्रह को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वीकार कर लिया है। इसके चलते अब पूरे एक माह तक कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ किसी भी तरह की कोई कार्यवाही नहीं की जाएगी।

पीएम मोदी ने

प्रधानमंत्री मोदी ने जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती द्वारा रमजान और अमरनाथ यात्रा के दौरान घाटी में एकतरफा सीजफायर की अपील पर सशर्त मंजूरी दे दी है। महबूबा मुफ्ती द्वारा रमजान के दौरान सीजफायर की अपील पर केंद्र सरकार ने सुरक्षाबलों को घाटी में रमजान के दौरान किसी भी तरह का नया ऑपरेशन शुरू ना करने के निर्देश दिये हैं।

बहरहाल, केंद्र सरकार ने किसी भी आतंकी हमले की स्थिति में सुरक्षाबलों को आतंक के खिलाफ जवाबी कार्रवाई करने के लिए छूट दी है।

दरअसल, मुसलमानों के रमजान महीने की शुरुआत से एक रोज पहले बुधवार को इस विषय में केंद्र ने गृह मंत्रालय ने ट्विटर पर इसकी जानकारी देते हुए लिखा, ‘मुस्लिम समाज के लोगों को रमजान के दौरान शांति व्यवस्था में सहयोग देने के लिए सरकार ने घाटी में सुरक्षाबलों को रमजान के दौरान कोई नया ऑपरेशन शुरू ना करने के निर्देश दिए हैं’।

वहीं गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने खुद जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती को भी इस संबंध में जानकारी देते हुए उन्हें आश्वस्त किया है।

यह भी पढ़ें:- कांग्रेस और JDS  नेताओं ने की राज्यपाल से मुलाकात, सौंपे एक होने के ‘सबूत’

गृह मंत्रालय ने कहा है कि सुरक्षाबलों को कश्मीर में लोगों की सुरक्षा करने और खुद पर हुए हमलों का जवाब देने के लिए किसी भी तरह का फैसला लेने का अधिकार है। और वह इसके लिए पूरी तरह से स्वतंत्र हैं।

यह भी पढ़ें:- सरकार ने जारी किया कर्मचारियों को बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता देने का आदेश

ऐसे में केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर के सभी नागरिकों से यह उम्मीद करती है कि सभी लोग सुरक्षा की इस व्यवस्था में अपना सहयोग करेंगे। जिससे मुस्लिम समाज के भाई-बहन बिना किसी व्यवधान के रमजान के पाक महीने का जश्न मना सकें।

देखें वीडियो:-

=>
LIVE TV