ट्रेन के कुछ ही दूरी चलने पर हुआ इंजन फेल, धीमी गति के कारण टला बड़ा रेल हादसा

रिपोर्ट- सत्यप्रकाश तिवारी

देवरिया। लगातार हो रहे ट्रेन हादसों के बाद भी रेलवे प्रशासन नही चेत रहा हैं, आज सुबह 6.30 बजे गोरखपुर से लोकमान्य तिलक स्पेशल ट्रेन का इंजन स्टेशन से निकलने के बाद ही कसया रेलवे क्रासिंग पर फेल हो गया, जिससे क्रासिंग पर यातायात बाधित हो गया। लेकिन अभी 3 घंटे बीतने के बाद भी रेलवे द्वारा कोई व्यवस्था नही की गई। सबसे बड़ी बात यह थी कि इस दौरान इंजन का चक्का जाम हुआ अगर ट्रेन रफ़्तार में रही होती तो आज एक बड़ा रेल हादसा होने से कोई नहीं रोक सकता था।

 

लोकमान्य तिलक

उत्तर प्रदेश के देवरिया जनपद का सदर रेलवे स्टेशन– जहां आज सुबह 6.37 पर गोरखपुर से लोकमान्य तिलक जाने वाली ट्रेन स्टेशन पर पहुची 5 मिनट रुकने के बाद ट्रेन ज्यो ही आगे चली की कसया रेलवे क्रासिंग पर ट्रेन का इंजन फेल हो गया । जिससे क्रासिंग के दोनों तरफ जाम लग गया। इसी समय सैकड़ो बच्चे क्रासिंग पार कर के स्कूल जाते है लेकिन ट्रेन के क्रासिंग पर खड़े हो जाने से बच्चो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। रेलवे प्रशासन के काफी प्रयास के बाद भी इंजन नही ठीक हो सका । इंजन का पहिया जाम हो गया था । लगभग 2.30 घंटे बाद पैसेंजर ट्रेन के इंजन से ट्रेन को वापस स्टेशन पर ले जाया गया ।

यह भी पढ़े: कर्नाटक की वो इकलौती सीट जिसके नाम से सहम जाते हैं राहुल और मोदी

लेकिन अभी भी लगभग 3 घण्टे बीत जाने के बाद भी अभी ट्रेन स्टेशन पर ही खड़ी है । यात्री परेशान है उनकी सुनने वाला कोई नही है और न हि कोई बताने वाला है की ट्रेन कब जाएगी, इस दौरान कुछ ट्रेन बाधित भी हुई । वही यात्रिओ का कहना था कि मुम्बई जाना है बहुत दिक्कत हो रही है । यह लेट होगा तो वह भी देर होगा । एक सी आर पी एफ जवान को भी डयूटी जाना था लेकिन ट्रेन लेट होने की वजह से जाना कैंसिल कर रहा हूँ।

इस घटना पर स्टेशन अधीक्षक का कहना था कि यह स्पेशल ट्रेन है जो 6.37 पर आई है ड्राइवर द्वारा बताया गया है कि इन्जन फेल हो गया है। एक पैसेन्जर ट्रेन के इन्जन से ट्रेन को हटाया गया है चुकी जाम ज्यादा लग गया था इसलिए लोग हंगामा कर रहे थे। हमने अधिकारियो को सूचित कर दिया है। इस घटना के बाद कुछ ट्रेने लेट हो गई है।

यह भी पढ़े: ट्रेन में बिक रहा गर्मागर्म टॉयलेट का पानी, वीडियो देख यात्री हुए सन्न

इस पूरे मामले में गोरखपुर रेलवे प्रशासन की घोर लापरवाही सामने आई कि आखिर लंबी दूरी जाने वाली ट्रेन का इंजन महज 50 किलोमीटर जाने के बाद फेल हो गया आखिर इस इंजन को किसने फिटनेस दिया था ? अगर इस दौरान ट्रेन की रफ़्तार ज्यादा रही होती तो बड़े हादसे का जिम्मेदार कौन होता ? यह बड़ा सवाल है जिसका जवाब रेलवे प्रशासन को देना ही होगा !

=>
LIVE TV