Wednesday , April 25 2018

कठुआ गैंगरेप के बाद बेतुके बयानों का दौर जारी, कांग्रेस ने भाजपा को बताया बलात्कार जनता पार्टी

नई दिल्ली। कठुआ में हुए गैंगरेप के बाद से राजनीतिक दलों में आंख मिचौली का खेल शुरू हो गया है। आलम ये है कि न्याय की बात तो दूर है, लेकिन सियासत अपने चरम पर जरुर पहुंच चुकी है।

कठुआ गैंगरेप

दरअसल, कठुआ और उन्नाव गैंगरेप पर जहां सत्ताधारी पार्टी भाजपा ने कांग्रेस पर राजनीति करने का आरोप लगाया है, तो वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कमल नाथ ने ज़ोरदार पलटवार किया है।

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा से कांग्रेस सांसद कमलनाथ ने भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि, ‘मैंने कहीं पढ़ा था कि भारतीय जनता पार्टी के 20 नेता ऐसे हैं जो बलात्कार से जुड़े हैं। अब इनका नाम भारतीय जनता पार्टी होना चाहिए या बलात्कार जनता पार्टी, ये जनता को सोचना है।’

यह भी पढ़ें:- बिहार विधान परिषद की 11 सीटों के लिए नीतीश, मोदी सहित 7 प्रत्याशियों ने किया नामांकन

कमल नाथ का बीजेपी को बलात्कारी जनता पार्टी बताने वाले बयान से पहले उनका एक ट्वीट भी सोशल मीडिया में वायरल हो रहा। इस ट्वीट में कमल नाथ ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए लिखा-

भाजपा के नारों को देश की जनता अब यूं कहती है

मेक इन इंडिया- रेप इन इंडिया

बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ- बेटी छिपाओ, बलात्कारियो से बचाओ…

देश बदल रहा है- बेटियों के साथ रोज़ रेप हो रहा है…

स्टार्ट अप इंडिया- रोज़ ब्रेक हो रही बहन-बेटियां

अबकी बार- नारी की इज्जत रोज़ हो रही तार-तार’

कमलनाथ के इस बयान पर भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि ‘हमें कमलनाथ जी से ऐसी उम्मीद नहीं है, वो वरिष्ठ नेता हैं। शब्दों की मर्यादा का ख्याल रखा जाना चाहिए।’

मुख्यमंत्री का अपमान मतलब दुनिया से गायब

इससे पहले भारतीय जनता पार्टी के सांसद मनोहर ऊंटवाल ने भी विवादित बयान दिया । उन्होंने कहा है कि ‘हमारे प्रधानमंत्री को कोई अपमानित करेगा तो उसको हम यहां (जूती) पर रखते हैं। हमारे मुख्यमंत्री का जो अपमान करेगा, उसको हम दुनिया से गायब करने की ताकत रखते हैं।’

ऊंटवाल ने यह बयान 15 अप्रैल को दिया। इससे पहले ऊंटवाल ने कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह को लेकर विवादित बयान दिया था।

यह भी पढ़ें:- दिव्यांग नाबालिग से दुष्कर्म, 12 साल के आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बता दें कि इन दिनों कठुआ औऱ उन्नाव गैंगरेप को लेकर पूरे देश में आक्रोश है। जहां आम जनता सोशल मीडिया औऱ कैंडल मार्च निकाल अपना विरोध बयां कर रही है वहीं राजनीतिक दल एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं।

देखें वीडियो:-

=>
LIVE TV