CM नीतीश कुमार 6 सितंबर को वर्चुअल रैली के जरिए जुड़ेंगे दस लाख लोगों से, पढ़े पूरी खबर

सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) 6 सितंबर को वर्चुअल रैली (Virtual Rally) के जरिए दस लाख लोगों से जुड़ेंगे. कोरोना (coronavirus) संक्रमण के बीच यह चुनावी रैली है. जनता दल यूनाईटेड की इस वर्चुअल रैली पर आरोप- प्रत्यारोप जारी है. राजद ने रैली के बहाने सीएम नीतीश कुमार पर हमला बोला है तो जदयू और बीजेपी ने पलटवार किया है.

वर्चुअल रैली पर राजद का दामन थामने वाले श्याम रजक ने कहा, ‘पांच साल तक सीएम नीतीश कुमार महल में पड़े रहे हैं और अब जब चुनाव आ रहा है तो वर्चुअल रैली के सहारे दलितों तक जाएंगे. उन्हें दलितों के सामने जाने में दिक्कत महसूस होती है. इसलिए वर्चुअल रैली करेंगे. महाराजा की तरह दूर से गरीबो से मिलेंगे.’

राजद की इस बयनाबाजी पर जदयू का बयान आया है. जदयू प्रवक्ता निखिल मंडल ने राजद के आरोपों को खारिज किया. निखिल मंडल ने कहा, ‘सीएम नीतीश कुमार जनता के दर्द को समझते हैं सुनते हैं. क्योंकि कोरोना संक्रमण है, ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग होना बहुत जरूरी है. लिहाजा पार्टी वर्चुअल रैली के सहारे जन-जन तक पहुंच रही हैं. अब इसमें सोशल डिस्टेंसिंग जिन्हें नहीं समझ में आ रही है, उन पर मैं क्या कहूं.’

वहीं आरजेडी के हमले पर बीजेपी नेता निखिल आनंद का भी बयान आया है. उन्होंने कहा, ‘आरजेडी भीड़ की पार्टी है. पॉकेट की पार्टी है. राष्ट्रीय जनता दल व्यवस्थित पार्टी नहीं है. न संगठन है न संगठन में कामकाज करने के तरीके हैं. ऐसे में इस तरह के बयान देंगे ही.’

=>
LIVE TV