प्रेरक प्रसंग

प्रेरक प्रसंग 1 – ‘संगत का असर’

प्रेरक प्रसंग

एक अध्यापक अपने शिष्यों के साथ घूमने जा रहे थे | रास्ते में वे अपने शिष्यों के अच्छी संगत की महिमा समझा रहे थे | लेकिन शिष्य इसे समझ नहीं पा रहे थे | तभी अध्यापक ने फूलों से भरा एक गुलाब का पौधा देखा | उन्होंने एक शिष्य को ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग : बिना प्रयास सफलता नहीं…

बिना प्रयास सफलता नहीं…

एक किसान था। उसके खेत में एक पत्थर का एक हिस्सा ज़मीन से ऊपर निकला हुआ था, जिससे ठोकर खाकर वह कई बार गिर चुका था। कितनी ही बार उससे टकराकर खेती के औजार भी टूट जाते थे। रोजाना की तरह आज भी वह सुबह-सुबह खेती करने पहुंचा और इस ...

Read More »

वो वक़्त जब सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र ने भी झूठ बोला था! जानें क्या हुआ था उसका परिणाम…

राजा हरिश्चंद्र को बच्चे नहीं हो रहे थे| उन्होंने वरुण देवता की पूजा की और उनसे कहा कि अगर आप मुझे एक बेटा दे दें तो मैं उसी को यज्ञ पशु बना कर आपका यज्ञ करूंगा| वरुण देवता ने उनकी बात मान ली और बात पक्की हो गई| हरिश्चंद्र का ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग : बुद्धि का बल

बुद्धि का बल

विश्व के महानतम दार्शनिकों में से एक सुकरात एक बार अपने शिष्यों के साथ बैठे कुछ चर्चा कर रहे थे। तभी वहां एक ज्योतिषी आ पहुंचा। वह सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करते हुए बोला, “मैं ज्ञानी हूँ ,मैं किसी का चेहरा देखकर उसका चरित्र बता सकता हूँ। बताओ तुममें ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग : सुखी और सफल जीवन का रहस्य

प्रेरक प्रसंग : सुखी और सफल जीवन का रहस्य

किसी बस्ती में एक उल्लू रहता था। उसकी बोली लोग बड़ी अशुभ समझते थे। इसीलिए कोई भी उसे अपने पास न आने देता था। जैसे ही वह बोलता, लोग उसे भगा देते थे। बस्ती वालों के इस व्यवहार से उल्लू बड़ा दुखी रहने लगा। एक दिन वह अपनी सहेली चमगादड़ ...

Read More »

अनुभव ही जीवन के लिए सबसे बड़ा शिक्षक है

यह जापान में प्रबंधन के विद्यार्थियों को पढ़ाया जाने वाला बहुत पुराना किस्सा है जिसे ‘साबुन के खाली डिब्बे का किस्सा’ कहते हैं। कई दशक पहले जापान में साबुन बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी को अपने एक ग्राहक से यह शिकायत मिली कि उसने साबुन का व्होल-सैल पैक खरीदा था ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग : सफल वही होता है जो रास्ते में आने वाली हर कठिनाइयों का डटकर करता सामना

प्रेरक प्रसंग - सफल वही होता है जो रास्ते में आने वाली हर कठिनाइयों का डटकर करता सामना

एक बार की बात है, एक निःसंतान राजा था, वह बूढा हो चुका था और उसे राज्य के लिए एक योग्य उत्तराधिकारी की चिंता सताने लगी थी। योग्य उत्तराधिकारी के खोज के लिए राजा ने पुरे राज्य में ढिंढोरा पिटवाया कि अमुक दिन शाम को जो मुझसे मिलने आएगा, उसे ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग : मन की शांति प्राप्त करने का एक तरीका

प्रेरक-प्रसंग : मन की शांति प्राप्त करने का एक तरीका

सेठ अमीरचंद के पास अपार धन दौलत थी। उसे हर तरह का आराम था, लेकिन उसके मन को शांति नहीं मिल पाती थी। हर पल उसे कोई न कोई चिंता परेशान किये रहती थी। एक दिन वह कहीं जा रहा था तो रास्ते में उसकी नजर एक आश्रम पर पड़ी। ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग : कंजूसी की वजह से गंवाया स्वर्ग प्राप्ति का अवसर

प्रेरक-प्रसंग

प्राचीन समय में एक बहुत कंजूस आदमी रहता था। उसने पूरी जिंदगी में किसी को कुछ नहीं दिया। पैसा ही उसके लिए सब कुछ था। मरने के बाद उसको नर्क में जगह मिली, जहां उसको अत्यंत दुखद स्थिति में रहना पड़ता था। अपनी दयनीय स्थिति पर वह रोता रहता था ...

Read More »

प्रेरक-प्रसंग : कठिन से कठिन काम को भी आसान बना देता हैं दृढ़ संकल्प

प्रेरक-प्रसंग

दृढ़ संकल्प कठिन से कठिन कार्य को सरलतम बना देता है। संकल्प पूर्ण न कर पाने पर मध्य मार्ग में लक्ष्य से विचलित हो जाना आम बात है। जोखिम उठाए बगैर कोई पहचान नहीं बनती। श्रम करने से बचने के लिए अकर्मण्य ही कर्मयोगी को प्रेरणा देने का असफल प्रयास ...

Read More »
LIVE TV