प्रेरक प्रसंग

हिन्दू पंचांग के अनुसार सितंबर 27, 2020, रविवार आश्विन माह के शुक्ल पक्ष एकादशी

हिन्दू पंचांग के अनुसार 27 सितंबर, 2020 को दिन रविवार आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की दशमीं तिथि है। पंचांग –27 सितम्बर 2020दिन : रविवारमाह : आश्विनपक्ष : शुक्लतिथि : दशमींनक्षत्र : उत्तराषाढ़ा 07:26 PM तक उपरांत श्रवणचंद्रमा : मकर राशि मेंअभिजीत : प्रात: 11:53 – 12:41 तकराहु काल : ...

Read More »

जानिए 27 अगस्त 2020 का राशिफल

दैनिक राशिफल चंद्र ग्रह की गणना पर आधारित है। राशिफल निकालते समय पंचांग की गणना और सटीक खगोलीय विश्लेषण किया जाता है। हमारे इस दैनिक राशिफल में सभी 12 राशियों का भविष्यफल बताया जाता है। इस राशिफल को पढ़कर आप अपनी दैनिक योजनाओं को सफल बनाने में कामयाब रहेंगे। आज का ...

Read More »

रक्षा बंधन क्यों मनाया जाता है जानें इससे जुड़ी कहानियां

लखनऊ । रक्षाबंधन भाई-बहन के स्नेह और उल्लास का पर्व माना जाता है। इस बार लॉकडाउन और कोरोना महामारी के बीच पूरे देश में 3 अगस्त 2020 को रक्षाबंधन मनाया जाएगा। भारत के प्रमुख पर्वों में राखी भी प्रमुखता से मनाई जाती है। यह एकमात्र ऐसा पर्व है, जिस दिन ...

Read More »

चाणक्य: ग्रहण की अशुभता दूर करने के लिए इन नियमों को नहीं भूलना चाहिए कभी

 इंसान के जीवन में जब बाधाएं ग्रहण के रूप में सामने आती है तो व्यक्ति निराशाओं के दलदल में फंसा हुआ महसूस करता है. बाधा रूपी ग्रहण से निकलने के लिए इंसान बहुत प्रयास करता है लेकिन उसे सफलता नहीं मिलती है. जैसे सूर्य पर ग्रहण लगाकर राहु-केतु सूर्य को ...

Read More »

चाणक्य: दुश्मन जब शक्तिशाली हो तो ऐसे दें उसे मात

भारत सहित पूरी दुनिया में कोरोना ने अपना कहर फैला रखा है. भारत की बात करें तो बीते 24 घंटे में कोरोना के करीब 10 हजार नए केस सामने आ चुके हैं. कोरोना वायरस इस समय भारत का दुश्मन नंबर एक बना हुआ है. हर कोई इसे पराजित करने के ...

Read More »

चाणक्य के अनुसार: इन कारणों से घर में आती है लक्ष्मी

मौर्य काल के महान दार्शनिक आचार्य कौटिल्य को चाणक्य के नाम से जाना जाता है। वे तक्षशिला विश्वविद्यालय के आचार्य थे। चाणक्य नीति में उन्होंने अपने सिद्धांतों का प्रतिपादन किया है। उनके सिद्धांत वास्तविक जीवन के लिए बेहद ही प्रासंगिक हैं। इसलिए आज भी चाणक्य नीति की बातों को अहमियत ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग :ईर्ष्या का त्याग

गुरू ज्ञानेश्वर का आश्रम उनके जमाने में बहुत प्रसिद्ध था। उनके यहाँ हजारों छात्र विद्या अध्ययन के लिए आया करते थे। गुरू जी ने एक सुबह देखा कि उनके कुछ शिष्यों में एक-दूसरे के लिए ईर्ष्या का स्वभाव झलक रहा है। उन्होंने अपने शिष्यों को अपने पास बुलवाया और उन्हें आदेश देते ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग : असली विजेता…

गुरुकुल की परीक्षाएं ख़त्म हो चुकी थीं ! सभी छात्र आश्रम में एकत्रित होकर चर्चा कर रहे थे कि अब छुट्टी के बाद वे सभी घर पहुंचकर क्या-क्या करने वाले हैं । तभी अचानक से गुरूजी ने आश्रम के बाहर से आवाज़ दी और कहा कि सभी छात्र बाहर मैदान ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग : अवसर को पहचानों

अमेरिका के एक शहर में पेंटिंग्स का ऑक्शन लगा हुआ था । उस ऑक्शन में बड़े से बड़े व्यापारी आए हुए थे और सभी पेंटिंग्स का आनन्द ले रहे थे । एक बिजनेसमैन जिसका नाम जॉन था, वो बार-बार एक ही पेंटिंग को बहुत समय तक देख रहा था, और ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग : कंजूस देखते ही देखते नर्क में…

कंजूस देखते ही देखते नर्क में…

प्राचीन समय में एक बहुत कंजूस आदमी रहता था। उसने पूरी जिंदगी में किसी को कुछ नहीं दिया। पैसा ही उसके लिए सब कुछ था। मरने के बाद उसको नर्क में जगह मिली, जहां उसको अत्यंत दुखद स्थिति में रहना पड़ता था। अपनी दयनीय स्थिति पर वह रोता रहता था ...

Read More »
LIVE TV