सीबीएसई विद्यार्थियों के लिए लेकर आया है ये खुशखबरी, 2020 से लागू होगी नई प्रणाली

दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के 10वीं के विद्यार्थियों को गणित का पेपर अब हौव्वा नहीं लगेगा। बोर्ड ने गणित की परीक्षा के तनाव को दूर करने के लिए अब दो तरह के पेपर तैयार करने का फैसला किया है। गणित के पेपर के दो स्तर होंगे, एक बेसिक और दूसरा स्टैंडर्ड। बेसिक वाला आसान होगा, जबकि स्टैंडर्ड पेपर मौजूदा स्तर का ही होगा। नई व्यवस्था मार्च, 2020 की परीक्षा से लागू होगी।

सीबीएसई

सीबीएसई के निदेशक (अकादमिक) डॉ. जोसेफ एमनुएल के अनुसार, राष्ट्रीय पाठ्यचर्या रूपरेखा (एनसीएफ) 2005 में भी एक विषय के लिए दो स्तर की परीक्षा कराने की बात कही गई है। इससे विद्यार्थियों को विकल्प चयन करने का मौका मिल सकेगा। इससे विद्यार्थियों के तनाव को भी कम किया जा सकेगा। ऐसे में बोर्ड ने 10वीं में गणित विषय के लिए दो स्तर के पेपर शुरू करने का निर्णय लिया है।

पाठ्यक्रम, आंतरिक परीक्षाएं एक जैसी होंगी
बोर्ड के अनुसार, दोनों स्तर के पाठ्यक्रम, कक्षा, आंतरिक परीक्षाएं एक जैसी होंगी। इससे छात्रों को पूरे साल सभी टॉपिक्स को पढ़ने का मौका मिलेगा। इसके बाद वे अपनी क्षमता के आधार पर फैसला ले सकेंगे कि उन्हें कौन से स्तर की परीक्षा में शामिल होना है। हालांकि, यह नियम 9वीं की परीक्षाओं में लागू नहीं होंगे।

पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, दो बदमाश गिरफ्तार

परीक्षा फॉर्म भरते वक्त करना होगा चयन
स्टैंडर्ड लेवल उन छात्रों को ध्यान में रखकर बनाया गया है, जो 11वीं या आगे की पढ़ाई गणित विषय के साथ करना चाहते हैं। वहीं, बेसिक लेवल उनके लिए होगा, जो गणित में उच्च शिक्षा हासिल नहीं करना चाहते। छात्र परीक्षा फॉर्म भरते वक्त स्टैंडर्ड या बेसिक गणित में एक का विकल्प चुन सकते हैं। अगर छात्र गणित में फेल हो जाते हैं तो कंपार्टमेंट परीक्षा में परीक्षा का लेवल बदल सकते हैं। अगर छात्र ने बेसिक को चुना है और वह यह परीक्षा पास कर लेता है तो वो अपना लेवल सुधारने के लिए कंपार्टमेंट परीक्षा में स्टैंडर्ड की परीक्षा दोबारा दे सकता है।

4 दिन में ही पुलिस ने किया अधेड़ की हत्या का खुलासा, 2 आरोपी गिरफ्तार

12वीं बोर्ड के कई विषयों की परीक्षा तिथि में बदलाव 
सीबीएसई ने 12वीं कक्षा के छात्रों को बड़ी राहत दी है। बोर्ड ने इंफॉमेटिक्स प्रैक्टिस, कंप्यूटर साइंस, फिलॉस्फी, ह्यूमन राइट्स एंड जेंडर स्टडी, थियेटर स्टडी, लाइब्रेरी एंड इंफॉर्मेशन साइंस, इंटरप्रिन्योरशिप विषयों की परीक्षा तिथि में बदलाव किया है। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार इंफॉमेटिक्स प्रैक्टिस व कंप्यूटर साइंस की परीक्षा 28 मार्च को होनी थी, लेकिन अब इन दोनों विषयों की परीक्षा 4 अप्रैल को होगी। फिलॉस्फी, इंटरप्रिन्योरशिप, ह्यूमन राइट्स एंड जेंडर स्टडीज, थियेटर स्टडीज, लाइब्रेरी एंड इंफॉर्मेशन साइंस विषयों की परीक्षा अब 2 अप्रैल की जगह 4 अप्रैल को होगी। यह बदलाव अभिभावकों की मुख्य परीक्षाओं की तैयारी के लिए पर्याप्त वक्त नहीं दिए जाने की शिकायत के बाद किया गया है।

=>
LIVE TV