श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने किया जिला अस्पताल बहराइच का औचक निरीक्षण

रिपोर्ट- अक्षय कुमार शर्मा/बहराइच

बहराइच जिला अस्पताल के डॉक्टरों में आज हड़कंप मच गया जब उत्तर प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन मंत्री एवं बहराइच के प्रभारी स्वामी प्रसाद मौर्य अचानक जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुँच गए.

वहां भारी गंदगी और अव्यवस्था देख मंत्री जी ने अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई और जल्द ही सारी कमियों को दूर करने के निर्देश दिए. स्वामी प्रसाद मौर्य आज भाजपा के सदस्यता अभियान का उदघाटन करने बहराइच पहुँचे थे.

स्वामी प्रसाद मौर्या

जिला अस्पताल बहराइच के डॉक्टरों तब हड़कंप मच गया जब अचानक उत्तर प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य अस्पताल का निरीक्षण करने पहुच गए.

अस्पताल पहुचते ही मेन गेट के आस पास फैली गंदगी को देखकर मंत्री जी ने डीएम शम्भू कुमार को सफाई कराने और वहां पर नगरपालिका द्वारा तुरंत डस्टबिन रखवाने के निर्देश दिए.

जब मंत्री जी इमरजेंसी वार्ड में पहुचे तो वहां भर्ती मरीजों ने बाहर से दवाई मंगवाने की शिकायत की इस पर मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने वहां मौजूद जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ डीके सिंह को फटकार लगाई और सारी जरूरी दवाई उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित किया.

स्वामी प्रसाद मौर्य जब महिला अस्पताल की तरफ जाने लगे तभी रास्ते मे पड़ने वाले रोगी आश्रय स्थल पर वहां मौजूद लोगों ने उनका ध्यान कराया. रोगी आश्रय स्थल के गेट पर ताला लगा था और वही पर दर्जनों सुअरों का भी जमावड़ा लगा था.

वहां मौजूद भाजपा कार्यकर्ताओं ने सीएमओ की मिलीभगत से पूर्व विधायक मुकेश श्रीवास्तव को जिला अस्पताल के कार्यो और सप्लाई आदि देने का आरोप भी लगाया जिस पर स्वामी प्रसाद मौर्य ने सीएमओ को कड़क लहजे में कहा कि मुकेश श्रीवास्तव पर सीबीआई जांच चल रही है अतः उन्हें किसी प्रकार का काम न दिया जाए.

दो पक्षों में मामूली विवाद को लेकर छात्र को मारी गोली, इलाज के दौरान मौत

महिला अस्पताल पहुचे  मंत्री जी अंदर न जाकर बाहर से ही अपनी गाड़ी में बैठ कर रवाना हो गए. क्योंकि अस्पताल की लिफ्ट महीनों से चालू ही नही हुई है जिसकी वजह से महिला मरीजो और उनके तीमारदारों को बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

फिलहाल मंत्री जी से जब मीडिया ने बात की तो उनका कहना है जो भी कमियां निरीक्षण के दौरान मिली है उन्हें दुरुस्त करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दे दिया गया है और इसके लिए आगामी 15 जुलाई तक का समय दिया गया है.

=>
LIVE TV