वेलेंटाइन डे पर पर्यावरण मंत्रालय ने कोटद्वार के रास्ते भी जिम कार्बेट की सफारी कर सकेंगे पर्यटक

जिम कार्बेट टाइगर रिजर्व पार्क में सफारी के शौकीनों के लिए यह बड़ी खबर है। वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने कोटद्वार के पास पाखरो इको टूरिज्म जोन को मंजूरी दे दी है। पर्यटक अब रामनगर के साथ ही कोटद्वार के रास्ते में भी पार्क में दाखिल होकर दुर्लभ प्रजाति के जंगली जीवों का दीदार कर सकेंगे। मंत्रालय की मंजूरी के बाद पर्यटकों की पहुंच आसान होगी। साथ ही रोजगार के अवसर भी सृजित हो सकेंगे।

वेलेंटाइन डे
उल्लेखनीय है कि जिम कार्बेट टाइगर रिजर्व पार्क जाने के लिए देश-विदेश के पर्यटकों को रामनगर जाना पड़ता था। राज्य सरकार की ओर से इस संबंध में लगातार मांग उठाई जा रही थी कि कोटद्वार के रास्ते भी पर्यटकों को जिम कार्बेट में सफारी करने की अनुमति दी जाए। आखिरकार वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने भारतीय वन्यजीव संस्थान, नेशनल टाइगर कंजर्वेशन अथॉरिटी के विशेषज्ञों से अध्ययन कराया कि यदि कोटद्वार के रास्ते सफारी की अनुमति दी जाती है तो इसका जिम कार्बेट के वन्यजीवों पर कितना दुष्प्रभाव पड़ेगा।

विज्ञानियों ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि पाखरो इको टूरिज्म जोन को मंजूरी दिए जाने के बाद वन्यजीवों पर इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ेगा। आखिरकार विज्ञानियों की रिपोर्ट के आधार पर मंत्रालय ने पाखरो इकोटूरिज्म जोन को मंजूरी देने के साथ ही कोटद्वार के रास्ते टाइगर सफारी की अनुमति दे दी।

अखिलेश यादव को प्रयागराज जाने से रोका गया, सीएम योगी ने दी ये सफाई…
दिल्ली से आने वाले पर्यटकों के लिए 90 किमी दूरी कम हुई
कोटद्वार के रास्ते सफारी की अनुमति दिए जाने के बाद दिल्ली से जिम कार्बेट टाइगर रिजर्व पार्क पहुंचने वाले यात्रियों को अब 90 किमी कम दूरी तय करनी होगी। यात्री दिल्ली से सीधे कोटद्वार पहुंच सकेंगे। इसके अलावा जौलीग्रांट एयरपोर्ट आने वाले यात्री महज एक घंटे में कोटद्वार पहुंच सकेंगे।

मंत्रालय ने दी एक दिन में 20 सफारी की अनुमति
वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने पाखरो इकोटूरिज्म जोन के रास्ते एक दिन में 20 सफारी की अनुमति दी है। जिम कार्बेट के अधिकारियों के मुताबिक सुबह और अपराह्न 10 – 10 सफारी की अनुमति दी गई है।

अगर आप भी जातीं हैं पार्लर, तो तो जायें सावधान, कहीं आप का भी न हो जाये ये हाल…

पाखरो इकोटॅूरिज्म जोन की मंजूरी के साथ कोटद्वार के रास्ते सफारी की अनुमति दिया जाना बहुत बड़ी उपलब्धि है। देश की आजादी के बाद से इसके लिए प्रयास किए जा रहे थे। सरकार व व्यक्तिगत मेरे स्तर पर इसे लेकर बहुत प्रयास किए गए। इसकी अनुमति मिलने से जिम कार्बेट टाइगर रिजर्व आने वाले पर्यटकों को सहुलियत होगी। साथ ही क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर सृजित किए जा सकेंगे।

=>
LIVE TV