Monday , September 24 2018

रोटोमैक फ्रॉड केस: CBI ने कोठारी पिता-पुत्र को किया गिरफ्तार

लखनऊ। पीएनबी में हुए घोटले से सबक लेते हुए एजेंसियां रोटोमैक घोटाले पर लगातार कार्रवाई कर रही हैं। सीबीआई ने रोटोमैक के मालिक और उनके बेटे राहुल कोठारी को गिरफ्तार कर लिया है।

रोटोमैक

दोनों पर 7 बैंकों के कर्न्सोटियम साथ धोखाधड़ी करने का केस चल रहा है। बैंक ऑफ बड़ौदा की ओर से शिकायत के बाद यह केस दर्ज कराया गया था। दोनों को 4 दिन तक पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया है।

घोटाले की बात सामने आने के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रोटोमैक पेन के मालिक विक्रम कोठारी और उसके परिवार के देश छोड़ने को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए। फिर ईडी ने कोठारी और उसके परिजनों के जमीन, समुद्र और हवाई मार्ग से भारत छोड़ने पर रोक लगा दी थी।

कोठारी परिवार पर 3,695 करोड़ रुपये के बैंक लोन फ्रॉड को लेकर मनी लॉन्ड्रिंग की की जांच चल रही है। जांच एजेंसी ने इस मामले में सबूत जुटाने के लिए उन्नाव और कानपुर समेत उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर छापे भी मारे।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि शुरुआती जांच के बाद पता चला है कि कोठारी ने बैंक लोन की राशि का इस्तेमाल अपने मनमाने तरीके से नहीं किया है।

नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के भारत के बाहर चले जाने से सबक लेते हुए ईडी ने रोटोमैक मालिक के कोठारी, उसकी पत्नी साधना और बेटे राहुल के देश छोड़ने पर रोक लगा दी।

इसी बीच आयकर विभाग ने कहा है कि उसने रोटैमैक पेन के मालिकों के 14 खाते सीज कर दिए हैं। आयकर विभाग टैक्स देनदारी के मामलों की जांच कर रहा है।

=>
LIVE TV