मां-बेटी ने एक साथ हासिल की PhD डिग्री , लेने पहुंचीं तो देखकर हैरान हो गए लोग

नई दिल्ली : दिल्ली यूनिवर्सिटी से मां-बेटी ने एक साथ पीएचडी डिग्री हासिल की है। वही 56 वर्षीय माला दत्ता और उनकी बेटी 28 वर्षीय श्रेया मिश्रा ने एक साथ डॉक्टरेक्ट की डिग्री हासिल की है और दोनों ने एक साथ डिग्री की थी।

MAA

 

देखा जाए तो माता दत्ता रक्षा मंत्रालय में भारतीय आर्थिक सेवा की अधिकारी हैं। वो कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद पीएचडी करना चाहती थी।1985 में दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से मास्टर्स की पढ़ाई पूरी की थी। जिसके बाद से ही वो पीएचडी करना चाहती थी।

विवादों में फसी ‘राम जन्मभूमि’, इन मांगो को लेकर दो फतवे जारी
बता दें कि माला दत्ताका कहना है कि 2012 में मुझे ब्रेक लेना पड़ा है। क्योंकि उस वक्त मेरी बेटी की 12वीं की बोर्ड परीक्षा थी। उस वक्त अर्थव्यवस्था में पीएचडी में रजिस्ट्रेशन करा लिया था। जहां पढ़ाई के लिए मंत्रालय से छुट्टी ले ली और पीएचडी को गंभीरता से लेना शुरू किया।

लेकिन उनकी बेटी श्रेया वर्ल्ड बैंक में सलाहकार हैं, उन्होंने दो साल पहले मनोविज्ञान से पीएचडी करने के लिए रजिस्ट्रेशनल कराया था।

वही श्रेया ने कहा है कि जिस वक्त मैंने रजिस्ट्रेशन कराया तो मुझे लगा कि दोनों अगर एक साथ पीएचडी पूरी कर लें तो वो पल सबसे खास होगा,  दोनों के सब्जेक्ट काफी अलग थे. लेकिन हमने एक दूसरे की मदद की है। हमने तीन साल में पीएचडी खत्म करने का फैसला किया था।

मां-बेटी ने एक साथ थीसिसि सबमिट किए और पिछले साल दोनों साथ ही ओरल परीक्षा में बैठे थे। माला दत्ता ने कहा है कि मेरे लिए बहुत अच्छा अनुभव था। मैंने युवा बच्चों से बहुत कुछ सीखा। कई बार तो ऐसा भी हुआ कि प्रोफेसर मुझे मैम कहकर बुलाते थे। मुझे काफी मजा आया। लेकिन दोनों कॉन्वोकेशन डे पर डिग्री साथ लेना चाहते थे।

दरअसल कॉन्वोकेशन डे 19 नवंबर को था। लेकिन उसके एक दिन पहले ही श्रेया की शादी हुई थी. ऐसे में दोनों दीक्षांत समारौह में नहीं जा पाए. जिसके बाद दोनों 15 मार्च को एक साथ डिग्री लेने पहुंचे है।

लेकिन विश्वविद्यालय के अधिकारियों का कहना है कि यदि दीक्षांत समारोह के दिन ये डिग्री प्राप्त की होती तो आप लोग भी समाचारों की सुर्खियां बनते है। उनकी स्टोरी अब काफी वायरल हो रही है और लोग मां-बेटी की खूब तारीफ कर रहे हैं।

=>
LIVE TV