फिनमेकानिका के पूर्व प्रमुख को जेल VVIP हेलिकॉप्टर घोटाला के सिलसिले में

l_Giuseppe-Orsi-1460172480एजेन्सी/नई दिल्ली।

भारत के साथ 3600 करोड़ रुपए से अधिक के 12 वीवीआईपी हेलिकॉप्टर की बिक्री घोटाले में इटली की रक्षा उपकरण बनाने वाली कम्पनी फिनमेकानिका के पूर्व प्रमुख गुइसेपे ओरसी को साढ़े चार साल की जेल हो गई है। मिलान की एक अपीलीय अदालत ने ओरसी को यह सजा सुनाई है।

इसके साथ कम्पनी की हेलीकॉप्टर बनाने वाली इकाई अगस्ता वेस्टलैंड के पूर्व सीईओ ब्रूनो स्पैगनोलिनी को भी चार साल की जेल की सजा सुनाई गई है। अदालत के इस फैसले को इटली की कम्पनी के लिए बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है। यह मामला सामने आने के बाद दुनिया भर में उसकी साख को धक्का लगा था। भारत में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय अब भी इस मामले की जांच कर रहा है। इस मामले में भारतीय वायु सेना के पूर्व प्रमुख एसपी त्यागी भी आरोपी हैं।

इटली की समाचार एजेंसी एएनएसए द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार ओरसी और ब्रूनो पर भारत के साथ इस सौदे में घूस लेने का आरोप था। आरोप था कि इन दोनों ने गलत इनवाइस तैयार की। निचली अदालत ने दोनों पूर्व अधिकारियों को अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार के आरोप से बरी कर दिया था। उन्हें केवल गलत इनवाइस बनाने के दोष में दो साल की सजा सुनाई गई थी। इस फैसले के खिलाफ दोनों पक्षों की तरफ से अपील की गई थी। फैसले पर फिनमेकानिका कम्पनी के अधिकारियों ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है। कम्पनी का कहना है कि पूर्व अधिकारियों को सजा सुनाई गई है। अब कम्पनी अब पूरी तरह से बदल गई है। भारत सरकार ने एक जनवरी 2014 को यह अनुबंध रद्द कर दिया था।

=>
LIVE TV