पीएम के जन्मदिन पर शिवसेना ने मोदी को कबूतर द्वारा भेजी चिट्ठी!

Report- KASHINATH SHUKLA

वाराणसी : शिवसेना ने वाराणसी में माता श्रृंगार गौरी मुक्ति अभियान को धार देने के लिए आज प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन के अवसर पर उन्हें माता श्रृंगार गौरी की मुक्ति का संदेश देने के लिए 11 कबूतर उड़ाए।

मुक्ति अभियान के मुखिया अरुण पाठक ने पीएम मोदी को संदेश देने के लिए 11 कबूतर उड़ाया और कहा कि पीएम मोदी के जन्मदिवस के अवसर पर उन्हें शुभकामनाएं देते हैं और उन्हें कबूतर के माध्यम से सुनहरा संदेश देते हैं कि जब वो कश्मीर को मुक्त कर सकते हैं , विश्वनाथ कॉरिडोर बना सकते हैं तो उसी कॉरिडोर में कई वर्षों से कैद मां श्रृंगार गौरी को भी मुक्त करा सकते हैं।

हमारी माता जो बाबा विश्वनाथ की अर्धांगनी हैं उन्हें कई वर्षों से उसी प्रांगण में कैद कर के रख गया है। ना उनकी पूजा होती है ना आरती ना ही भक्त उनके दर्शन कर पाते हैं जबकि बिना उनके बाबा के दर्शन की मान्यता नहीं है। ऐसे में आज मोदी जी को कबूतर के माध्यम से संदेश दिया गया है और दिन प्रतिदिन ये अभियान वृहद आंदोलन का रूप लेता जाएगा जबतक माता श्रृंगार गौरी मुक्त ना हो जाएं।

इस मुक्ति अभियान के तहत भगवान शिव की नगरी में मां श्रृंगार गौरी के नियमित दर्शन साल 1995 में लगी रोक हटाने के लिए शिवसेना ने प्रशासन के खिलाफ अभियान शुरू किया है। 1995 में दर्शन पर लगी रोक को हटवाने के लिए विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के कार्यकर्ताओं ने उग्र आंदोलन किया था, जिसके बाद लाठीचार्ज में कई लोग घायल हुए थे।

शराब के पैसे न देने पर कलयुगी ने मां को ईंट से कुचलकर उतारा मौत के घाट

वीएचपी के इस आंदोलन के 24 वर्ष बाद फिर से मंदिर के दर्शन को नियमित कराने की आवाज उठ गई है। महाराष्ट्र के चुनाव से ठीक पहले एनडीए के सहयोगी दल शिवसेना ने इसके लिए वाराणसी में आवाज उठाई है।

=>
LIVE TV