आज दिल्ली में पवार और सोनिया गांधी की बैठक प्रस्तावित, राज्य की राजनीति पर होगी चर्चा…

महाराष्ट्र सरकान बनने के गठन को लेकर आज कांग्रेस और एनसीपी की बैठक में बात हो सकती है। आज दिल्ली में कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी और शरद पवार की बैठक है जिसके लिए पवार दिल्ली पहुंच गए हैं। इस बैठक के बाद ही महाराष्ट्र की राजनीति में कोई फैसला सुनाया जा सकता है। यह बैठक शाम को 4 बजे प्रस्तावित की गई है।

पवार और सोनिया गांधी

सूत्रों के अनुसार, पवार और सोनिया के बीच बैठक के बाद राज्य में नई सरकार के गठन के बारे में अंतिम मुहर लग सकती है। चर्चा है कि तीनों पार्टियों यानी शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस के बीच मंत्रालयों को लेकर न्यूनतम साझा पत्र तैयार हो चुका है।

बैठक के बाद एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन खत्म होना चाहिए और वैकल्पिक सरकार का गठन होना चाहिए। उन्होंने कहा कि सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार की बैठक में अगला निर्णय लिया जाएगा।

जौनपुर में पुलिस और बदमाश के बीच मुठभेड़, 25 हजार का इनामी बदमाश फरार…

पृथ्वीराज चव्हाण बोले-  हम साथ आ सकते हैं या नहीं, बैठक के बाद होगा तय
वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि हम ये समझने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस एक साथ आ सकते हैं या नहीं। चव्हाण ने कहा है कि सोमवार को शिवसेना और कांग्रेस नेताओं की एक बैठक है। इस बैठक में ये तय किया जाएगा कि दोनों पार्टियां एक साथ आगे बढ़ सकती भी हैं या नहीं।

संजय राउत ने भी माना- विचारधारा रोक रही सरकार गठन का रास्ता

शिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत कहा कि अलग-अलग विचारधारा की पार्टियों को एक साथ आने में वक्त लग रहा है, इसलिए सरकार बनाने में देरी हो रही है। राज्य में दिसंबर तक सरकार का गठन होगा। दिसंबर में 170 विधायकों के समर्थन से शिवसेना, NCP और कांग्रेस की सरकार बनेगी।

=>
LIVE TV