Friday , March 31 2017

इस पत्थर के निशाने पर हैं दुनिया के 1500 शहर, परमाणु से भी है खतरनाक

परमाणुपेरिस। पेरिस में असगार्दिया नाम से अंतरिक्ष में बसने वाले पहले देश की कॉन्फ्रेंस में मौजूद वैज्ञानिकों ने दुनिया को बड़े खतरे की चेतावनी दी है। वैज्ञानिकों का कहना है कि अंतरिक्ष से एक ऐसा पत्थर धरती पर गिर सकता है, जो कई शहरों को तबाह कर सकता है। असगार्दिया के फाउंडर डॉ ईगर अशुरबली ने बताया कि किसी भी वक्त धरती पर एक ऐसा छोटा तारा रूपी पत्थर गिर सकता है और अगर ऐसा हुआ तो लाखों लोगों को अपनी जान गवानी पड़ेगी। परमाणु से भी विनाशकारी साबित होगा।

डॉ ईगर ने बताया कि साल 2013 में 20 मीटर से एक अंतरिक्ष से पत्थर धरती पर गिरा था। वो पत्थर बहुत शक्तिशाली था। इसलिए अब हमें इस खतरे से निपटने के लिए तैयार हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस खतरे को हल्के में नहीं लेना चाहिए क्योंकि ये मानवजाति को हमेशा के लिए खत्म कर सकते हैं।

ईगर ने आगे कहा कि ये अंतरिक्ष के पत्थर परमाणु से भी ज्यादा घातक साबित हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि ये पत्थर कम से कम 1500 शहरों को एक साथ खत्म कर सकते हैं। डॉ अशुरबली ने बताया कि हम अभी इस तरह के खतरों से निपटने के लिए सक्षम नहीं हैं। इसलिए हमने असगार्दिया को बनाने का फैसला लिया। पृथ्वी को अंतरिक्ष से होने वाले खतरों से बचाएगा।

डॉ अशुरबली के कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि मिसाल के तौर पर कॉस्मिक किरणों के खतरे, पृथ्वी के नजदीक से गुजरने वाले धूमकेतुओं की टक्कर या अंतरिक्ष कचरे के रूप में मौजूद नष्ट हुए सेटेलाइट और रॉकेटों के टुकड़ों से बचाव में मददगार होगा। एयरोस्पेस इंटरनेशनल रिसर्च सेंटर के प्रमुख ईगर के मुताबिक धरती की निचली कक्ष में 20 हजार ऐसे रॉकेट, अंतरिक्षयान या सेटेलाइट के टुकड़े चक्कर लगा रहे हैं जिनकी एक टक्कर से पृथ्वी का संचार सिस्टम पूरी तरह ठप हो सकता है।

LIVE TV