संघ मुक्त के बयान पर बौखलाई BJP ने किया नीतीश पर पलटवार

nitish-kumar-sharad-yadav_570a3d1dd7a67एजेंसी/ पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान से बीजेपी क्रोधित हो गई है। नीतीश ने अपने बयान में कहा था कि राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ देश की एकता और लोकतंत्र के लिए खतरा पैदा कर रहा है। इसी बयान के बाद संघ के बचाव में उतरी बीजेपी ने कहा कि संघ के आलोचकों को अपनी गलत धारणा को सही करने के लिए एक दिन संघ की शाखा में जाना चाहिए।

बीजेपी का कहना है कि नीतीश द्वारा एक मोर्चा संगठित करने के प्रयासों से बीजेपी कभी भी परेशान नहीं होगी। मोदी सरकार को देश तथा गरीबों के लिए काम करने से रोकने के ऐसे प्रयास कभी सफल नहीं होंगे। बीजेपी के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा कि जदयू के प्रमुख की राष्ट्रीय महत्वाकांक्षाओं से हर कोई वाकिफ है।

उन्होंने कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से यह स्पष्ट करने को कहा कि क्या राहुल गांधी ऐसे किसी मोर्चे की अगुवाई करेंगे या केवल उसका हिस्सा भर होंगे? कांग्रेस ने नीतीश के विचारों का समर्थन किया है। कांग्रेस का कहना है कि 2019 में होने वाले चुनाव से पहले किसी भी राष्ट्र स्तरीय गठबंधन के लिए राष्ट्रीय दलों का एक राष्ट्रीय अस्तित्व होना जरुरी है।

यह पूछे जाने पर कि क्या नीतीश कुमार को राष्ट्रीय स्तर के गठबंधन के नेता के रूप में पेश किया जा सकता है, जिसका विचार उन्होंने दिया है? पार्टी महासचिव शकील अहमद ने कहा कि वह एक लोकप्रिय मुख्यमंत्री हैं, जो बिहार में अच्छा काम कर रहे हैं। पार्टी नेतृत्व का तो कोई प्रश्न ही नहीं है।

एक अन्य सवाल के जवाब में अहमद ने कहा कि जब तक अगला चुनाव आएगा, तब तक जनता खुद मोदी सरकार को उखाड़ फेकेगी और किसी गठबंधन की जरुरत ही नहीं होगी। कल पटना में एक समारोह में नीतीश कुमार ने कांग्रेस मुक्त भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नारे का पलट कर जवाब देते हुए कहा था, संघ मुक्त भारत बनाने के लिए सभी गैर बीजेपी दलों को एक होना होगा।

कुमार ने कहा था कि बीजेपी और उसकी विघटनकारी विचारधारा के खिलाफ एकजुट होना ही लोकतंत्र को बचाने का एकमात्र रास्ता है।

=>
LIVE TV