कई बड़ी बीमारियों का रामबाण इलाज हैं किचन में रखा छोटा सा ‘जीरा’

आज कल हर कोई अपनी बिजी लाइफस्टाइल के चलते अपनी सेहत को नज़रअंदाज़ कर रहा हैं। लेकिन भी कुछ इनमे मौजूद है जो अपनी फिटनेस को लेकर बड़े ही सजग हैं। भले ही लोगों को व्यस्त रहने के चलते जिम और एक्सरसाइज करना मुश्किल हो जाता है। तो ऐसे में स्वस्थ और फिट रहने के लिए हम आपके किचन में हमेशा रहने वाले ‘जीरे’ के वो अनोखे गुण बताने जा रहे हैं, जिससे आपको स्वास्थ संबंधी समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा। किचन में रखा छोटा सा जीरा आपको कई बीमारियों से निजात दिलाता हैं। चलिए जानते आखिर जीरे से किन बीमारियों से मिलती है राहत-

कई बड़ी बीमारियों का रामबाण इलाज हैं किचन में रखा छोटा सा ‘जीरा’

सिरदर्द और दांत दर्द में राहत

लोकतांत्रिक देश में रहने के बावजूद इस महिला को मिली अपने जुर्म की ख़ौफनाक सज़ा, जानें क्यों

माइग्रेन की परेशानी होने पर रोजाना काले जीरे का तेल सिर और माथे पर लगाएं, इससे राहत मिलेगी। अगर दांत दर्द है, तो गर्म पानी में काले जीरे के तेल की कुछ बूंदें डाल कर कुल्ला करने से दर्द में आराम मिलेगा।

पेट के लिए फायदेमंद

एंटीमाइक्रोबियल गुणों के कारण काले जीरे के सेवन से पेट से जुड़ी समस्याओं जैसे, डायरिया, एसीडिटी, पेट दर्द, दस्त, पेट में कीड़े होना आदि समस्याओं में आराम मिलता है। कब्ज़ होने पर तुरंत थोड़ा सा काला जीरा खा लें, आराम मिलेगा।

रोगाणुरोधक

अगर घाव या फुंसियां हो गई हैं, तो काले जीरे के पाउडर का लेप बना लें, फिर उसे घाव पर लगाएं। इससे जल्दी ही राहत मिल जाएगी। एंटी बैक्टीरियल गुणों के कारण ये संक्रमण फैलने से रोकता है।

इम्यून सिस्टम मजबूत करे

जीरे का सेवन करने से इम्यूनिटी सिस्टम सही रहता है। ये इम्यूनिटी बढ़ाने में बोनमैरो और रोग-प्रतिरोधक सेल्स की मदद करता है। इससे थकान और कमजोरी नहीं होती है।

वजन घटाने में मददगार

खुद की सुरक्षा के लिए मायावती ने बनाई है ‘ब्लू आर्मी, हर जगह रहते हैं तैनात

काले जीरे के इस्तेमाल से वजन तो कम होता ही है साथ ही शरीर को एनर्जी भी मिलती है। इसके अलावा जीरे का पानी भी वजन करने में सहायक होता है।

कई बड़ी बीमारियों का रामबाण इलाज

काली खांसी, अस्थमा, ब्रोंकाइटिस (फेफड़ों में सूजन और जलन), एलर्जी से होने वाली सांस की बीमारियों में ये असरदार है। इसके अलावा स्वाइन फ्लू और वायरल हो जाने पर काले जीरे का सेवन करें, बुखार में राहत मिलेगी।

जरूरी: काला जीरा कच्चा या आधा पका नहीं खाना चाहिए इससे पेट में दर्द हो सकता है। काला जीरा अधिक खाने से आपको अधिक डकारें भी आ सकती हैं। पीरियड्स के दौरान इसका सेवन हानिकारक होता है।

=>
LIVE TV