एसटीएफ को मिली सफलता, 1.25 करोड़ की चरस के साथ 3 अभियुक्त गिरफ्तार

रिपोर्ट- Faheem khan

रामपुरः यूपी के रामपुर में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नेपाल से मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले गिरोह के 03 सदस्य को एस0टी0एफ उत्तर प्रदेश की टीम ने 25 क्रि0ग्रा0 चरस के साथ गिरफ्तार किया। जिसकी (अंतराष्ट्रीय बाजार में 1.25 करोड़ रूपये) है बरामद करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई।

एस0टी0एफ0 उत्तर प्रदेश को विगत समय से अन्र्राज्यीय स्तर पर चरस की तस्करी करने वाले गिरोह के सक्रिय होने की सूचनायें प्राप्त हो रही थी। इस सम्बन्ध में श्री राजीव नारायण मिश्र, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ0 उ0प्र0 लखनऊ द्वारा एस0टी0एफ0 की विभिन्न इकाईयो को अभिसूचना संकलन एवं कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया।

जिसके अनुपालन मेें श्री सत्यसेन यादव, अपर पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ0 के पर्यवेक्षण मेें एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई बरेली के निरीक्षक श्री अजयपाल सिंह के नेतृत्व में गठित टीम द्वारा अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की।

अभिूसचना संकलन के दौरान विश्वसनीय स्रोत के माध्यम से जानकारी प्राप्त हुई कि अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर चरस की तस्करी करने वाले गिरोह के कुछ सदस्य नेपाल के धनगढ़ी बार्डर से गौरी फण्टा के रास्ते से उत्तर प्रदेश के जनपद-रामपुर में अवैध चरस की खेप लेकर पहुचेंगे। इस अभिसूचना को रामपुर पुलिस के साथ साझा कर इनकी गिरफ्तारी हेतु जनपद रामपुर से राजपत्रित अधिकारी या मजिस्ट्रेट को शामिल करने हेतु उच्चाधिकारियों कोे अनुरोध किया गया।

जनपद रामपुर के तहसीलदार सदर श्री प्रमोद कुमार के नेतृत्व में टीम गठित कर एस0टी0एफ0 व जनपद रामपुर की सयुक्त टीम द्वारा मुखबिर द्वारा बताये स्थान रोडवेज, बस-स्टैण्ड रामपुर पर पहॅुचकर अपनी उपस्थिति छिपाते हुए घेराबंदी की गयी। समय करीब 19ः55 बजे रोडवेज बस स्टैण्ड के पास बने पूर्वी गेट पर मुखबिर की निशादेही पर 03 लोगो को आवश्यक बल प्रयोग करते हुए गिरफ्तार कर लिया गया।

जिनसे उपरेाक्त बरामदगी हुई।,पूछताछ पर ज्ञात हुआ कि गिरफ्तार अभियुक्तगण बरामद चरस को नेपाल के अर्जुन नाम के व्यक्ति से लेकर आये थे। इस चरस को ये लोग जनपद रामपुर के फैयाज को देते, जो रोडवेज के पास कहीं मौजूद था। पकडे गए आरोपियों ने बताया कि हम लोग उसे फोन करते तो वह अपनी गाड़ी लेकर आ जाता और हमारे बैग अपनी गाडी मे रखकर हम लोगो को 25,000/- रूपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से पैसा दे देता।

कोर्ट के फैसले के बाद शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए मनोज तिवारी ने की अपील

हम लोग पूर्व में भी इसी तरह से फैयाज को चरस लाकर रोडवेज पर देते रहते हैं। हम लोगो को पकड़े जाने पर उसने हमें देख लिया है इस लिये वह अब हमारा फोन नही उठा रहा है और उसने अपने मोबाइल नम्बर स्वीच-आफ कर लिया है। फैयाज इस माल को पश्चिमी यू0पी0, उत्तराखण्ड, दिल्ली, हरियाणा व अन्य क्षेत्रों में सप्लाई करता है।

=>
LIVE TV