आगरा पर भी मंडराया तबलीगी खतरा, इतने लोग होंगे क्वारेंटाइन

आगरा। दिल्ली में तबलीगी में जमात में हजारों की संख्या में लोग इकट्ठा  हुए थे। जिस वजह से आगरा में मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। तबलीगी में शामिल 118 लोगों को क्वारेंटाइल में रखा गया है। यह लोग देश के अलग अलग कोने से शामिल हैं।

बनाया क्वारेंटाइन सेंटर ऐसे लोगों के लिए सिकंदरा स्थित मधु रिसॉर्ट में क्वारेंटाइन सेंटर बनाया गया है. अभी तक इन लोगों को यही रखा गया था. यहां से स्वास्थ्य विभाग की टीम इन्हें अलग अलग जगहों पर शिफ्ट करेगी. इससे पहले आगरा में एक डॉक्टर के विदेश से लौटे बेटे में कोरोना के लक्षण पाए गए. जांच में वह कोरोना पॉजिटिव निकला. अब उनके पिता में भी कोरोना की पुष्टि हो गई है. उत्तर प्रदेश में नोएडा के बाद आगरा ही ऐसा जिला है जहां कोरोना के सबसे अधिक मामले सामने आए हैं.

ऑपरेशन क्लीन किया शुरू
जमात में शामिल किसी ने भी विदेश से आने की बात छुपाई तो उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा. तबलीगी जमात की घटना के बाद आगरा प्रशासन ने ऑपरेशन क्लीन शुरू कर दिया है. आगरा पुलिस और प्रशासन ने मुस्लिम बस्तियों में 118 लोगों को चिन्हित किया है. इनकी 15 मार्च के बाद की ट्रेवल हिस्ट्री है. इनमें 28 जमाती थी शामिल हैं जो निजामुद्दीन से तबलीगी जामात से जुड़े हए हैं, इन सभी पर विशेष रूप से रखी जा रही है.

CoronaVirus: सबसे कम उम्र के व्यक्ति की महामारी से मौत, अबतक नहीं चला था कोरोना पॉजिटिव होने का पता…

बनाया क्वारेंटाइन सेंटर
ऐसे लोगों के लिए सिकंदरा स्थित मधु रिसॉर्ट में क्वारेंटाइन सेंटर बनाया गया है. अभी तक इन लोगों को यही रखा गया था. यहां से स्वास्थ्य विभाग की टीम इन्हें अलग अलग जगहों पर शिफ्ट करेगी. इससे पहले आगरा में एक डॉक्टर के विदेश से लौटे बेटे में कोरोना के लक्षण पाए गए. जांच में वह कोरोना पॉजिटिव निकला. अब उनके पिता में भी कोरोना की पुष्टि हो गई है. उत्तर प्रदेश में नोएडा के बाद आगरा ही ऐसा जिला है जहां कोरोना के सबसे अधिक मामले सामने आए हैं.

=>
LIVE TV