अमेरिका की पाक को सलाह

w11वॉशिंगटन। अमेरिका के विदेश मंत्रालय के एक टॉप अधिकारी ने कहा कि अमेरिका चाहता है कि पाकिस्तान मतभेदों को सुलझाने के लिए अपने पड़ोसी देशों से वार्ता करे। उन्होंने इस बात को रेखांकित किया कि क्षेत्र में पाकिस्तान के संबंधों में कुछ उतार-चढ़ाव आए हैं। विदेश मंत्रालय के उपर्पवक्ता मार्क टोनर ने कहा, स्पष्ट रूप से कहूं तो हमारा मानना है कि पाकिस्तान के अपने पड़ोसियों के साथ और क्षेत्र में संबंधों में कुछ उतार-चढ़ाव आए हैं लेकिन हमारा मानना है कि वह मतभेद सुलझाने के लिए बेहतर संवाद की दिशा में आगे बढ़ रहा है। उन्होंने पाकिस्तान को एफ-१६ लड़ाकू विमानों की बिक्री के संबंध में एक र्पश्न का उत्तर देते हुए कहा कि अमेरिका हथियारों के इस हस्तांतरण में क्षेत्रीय सुरक्षा और अन्य कारकों की श्रृंखला को ध्यान में रखता है। टोनर ने कहा, हमारा मानना है कि हमारी सुरक्षा सहायता पाकिस्तान और क्षेत्र को अधिक स्थायी एवं सुरक्षित बनाने में योगदान देती है।
मार्कटोनर ने कहा, हमारा मानना है कि पाकिस्तान के आतंकवाद विरोधी प्रयासों के समर्थन के लिए एफ-१६ सही मंच है और वे पाकिस्तान में सक्रिय कुछ आतंकवादी समूहों के खिलाफ अतीत में की गई सफल कार्रवाइयों या अभियानों का हिस्सा रहे हैं। अमेरिका सैन्य अनुदान के तहत पाकिस्तान को आठ एफ-१६ विमान नहीं बेच सकता क्योंकि सेनेट ने इसे रोक रखा है। सांसद चाहते हैं कि पाकिस्तान को एफ-१६ की बिक्री की दिशा में करदाताओं के धन के इस्तेमाल के लिए पाकिस्तान खूंखार हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ कदम उठाए। विदेश मंत्रालय के र्पवक्ता ने कहा, कांग्रेस के अहम सदस्य इस बात को लेकर स्पष्ट हैं कि वे कुछ विशेष कदमों की अनुपस्थिति में एफ-१६ की बिक्री के लिए एफएमएफ को समर्थन देने के लिए तैयार नहीं हैं। (हिफी)

=>
LIVE TV