अपने ही लड़ाकों को ISIS दे रहा धोखा, बेच रहा उनके अंग

isis_56f4ca5210d35 (2)एजेंसी/ काहिरा : वितीय संकट से जूझ रहा आतंकी संगठन आईएसआईएस अब अपने ही लड़ाकों को अपने ही हाथों मौत की नींद सुलाने लगा है। अपनी गैंग के जख्मी लड़ाकों को मारकर ये उनके बॉडी पार्टस को बेच कर पैसे कमा रहा है। इससे पहले वो बंधकों के साथ ऐसा करता था।

ब्लैक मार्केट में इन ह्यूमन ऑर्गन को बेचकर आतंकी संगठन मोटी रकम कमा रहा है। एक अरबी न्यूजपेपर अल-सबाह में प्रकाशित खबरों के अनुसार, आईएसआईएस ये काम डॉक्टरों को धमका के कर रहा है। वे घायल लड़कों की जबरन हार्ट और लिवर निकलवा रहा है।

डॉक्टरों को ऐसा न करने पर गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी जा रही है। साउथ मोसुल का हिस्सा हाथ से निकल जाने के बाद आतंकियों की फाइनेंशियल क्राइसिस बढ़ गई है। मोसूल की जेलों में कैदियों को ब्लड डोनेशन के लिए मजबूर किया जा रहा है।

आईेसआईएस ने अपने यूरोपीय लड़ाकों को छुट्टी दे दी है। इससे ब्रिटेन व यूरोपीय देशों में आतंकी हमले का भी खतरा बढ़ गया है। पिछले दिनों मीडिया में लीक हुए कागजातों से पता चलता है कि हजारों लड़ाकों को एग्जिट कार्ड थमा दिया गया है। इन पर आइएस के गेटकीपर्स और कमांडर्स के सिग्नेचर हैं।

इनमें से कई ने 2013 और 2014 के बीच छुट्टियां मांगी थीं। इन डॉक्यूमेट्स में लड़ाकों के नाम, ग्रुप में उनका काम, कब शामिल हुए, कब छोड़ा, क्यों छोड़ा, किस क्रॉसिंग प्वाइंट से जा रहे हैं, जैसी कम्प्लीट जानकारी है। एक फ्रांसीसी लड़ाके के बारे में कमांडर ने लिखा है कि काम पूरा करने के लिए जा रहा है।

जबकि एक ब्रिटिश इराकी को एक काम करने के लिए लीव दी गई है। आईएसआईएस ने अपने भारत के कॉन्टैक्टस से कुछ दिनों के लिए संदिग्ध एक्टिविटी बंद रखने को कहा है। ये ऑर्डर आईएसआईस रिक्रूटर शाफी अरमार उर्फ यूसुफ अल हिंदी ने दिए हैं।

=>
LIVE TV