वाह रे सिस्टम! अपराधी को ही बना दिया पुलिस मित्र

रिपोर्ट- विकास सोलोमन

कानपुर। जिले की पुलिस का रवैया आम जनता के साथ कैसा है ये पुलिस और जनता दोनो ही जानते हैं। सालों पहले कानपुर पुलिस ने क्षेत्रीय जनता की समस्याओं को जानने व अपराध और आपराधिक गतिविधियों को रोकने के उद्देश्य से जिले के हर थाना क्षेत्र में सम्भ्रांत पुलिस मित्र (एसपीओ) की तैनाती की गई थी जिस परंपरा को आज भी कानपुर पुलिस द्वारा निभाया जा रहा है।

IMG-20181101-WA0036

पुलिस मित्र उन्ही लोगों को बनाया जाता है जिनका कोई आपराधिक इतिहास ना हो और जिनको क्षेत्र की जानकारी व क्षेत्री लोगो के बीच अच्छी पकड़ हो जिससे की क्षेत्र मे होने वाली हर गतविधियों की जानकारी उनको मिल सके पुलिस का मानना है की क्षेत्र मे ऐसी बहुत सी घटनाएं घटित होती हैं। लेकिन पुलिस से नजदीकी न होने के कारण वो सूचनाएं उन लोगों तक ही सीमित होकर रह जाती हैं।

पुलिस तक वो जानकारी नहीं पहुंच पाती है। पुलिस तक हर जानकारी तत्काल पहुंचे इस लिए इन लोगों के साथ पुलिस मित्रवत व्यवहार करेगी उन लोगों का सम्मान देने का काम करेगी ऐसे लोगों को पुलिस और थाने से जोड़ना ही मुख्य उद्देश्य रहेगा।

पुलिस का मानना है कि पुलिस अकेले अपराध पर अंकुश नहीं लगा सकती। पुलिस का जब तक सूचना तंत्र मजबूत नहीं होगा तब तक अपराधों पर अंकुश नहीं लगाया जा सकता है। इसलिए अपराध पर अंकुश लगाने के लिए कानपुर पुलिस ने हर थानों में संभ्रांत पुलिस मित्र (एस-10) की सूची तैयार की है। लेकिन कानपुर नगर के थाना चकेरी में शायद 10 संभ्रांत व्यक्ति नही मिले वरना एक अपराधी को संभ्रांत मित्र पुलिस (एस-10) की सूची में ना शामिल करती।

मामला कानपुर के चकेरी थाना का है जहाँ के एक अपराधी प्रवत्ति के व्यक्ति सुरेश शुक्ला पुत्र सालिग राम शुक्ला निवासी- 104 गांधीग्राम थाना चकेरी को एसपीओ बना दिया गया। सुरेश शुक्ला के बारे में बताते चले कि सुरेश शुक्ला पर सालों से कानपुर नगर के चकेरी, नौबस्ता, कोतवाली और रेलबाजार थानों में हत्या का प्रयास, जमीनों पर अवैध कब्जा और जालसाजी जैसे लगभग एक दर्जन  से ज्यादा आपराधिक मुकद्दमे दर्ज हैं और सभी विचाराधीन हैं।

इसके बावजूद न जाने चकेरी थाने क्षेत्र मे सुरेश शुक्ला को एसपीओ बना एक अपराधी को संभ्रांत पुलिस मित्र बना दिया। कई सालों से कानपुर के चकेरी थाने में लगातार सुरेश शुक्ला के खिलाफ कई आपराधिक मामले लिखे गए हैं।

ऐसे अपराधी सुरेश शुक्ला पर कानपुर पुलिस के कई थानों सहित चकेरी थाना भी कुछ खास महेरबान दिखाई दे रहा है और इस मेहरबानी का ही नतीजा है कि एक अपराधी प्रवत्ति के व्यक्ति को दरोगा अमरेन्द्र बहादुर सिंह और चकेरी पुलिस ने एसपीओ बना डाला जिसका विरोध उन थानों के प्रभारियों ने भी नही किया।

देश की सबसे बड़ी थाली का बना रिकार्ड, 29 राज्यों के 233 व्यंजन है शामिल

जहाँ सुरेश शुक्ला पर आपराधिक मामलों में मुकद्दमा दर्ज है और न ही कानपुर पुलिस के आला अधिकारियों के पास इतना समय है कि वो किसी को एसपीओ बनाने से पहले उनका इतिहास खंगालने की जरूरत समझी अपराधियों को इस तरह के मित्र पुलिस का पद बांटती फिर रही। कानपुर की पुलिस न जाने अब तक कितने सुरेश शुक्ला जैसे अपराधियों को अपना मित्र बनाकर कानपुर की जनता को अपराधियों के हवाले करने की तैयारी में है।

=>
LIVE TV