ट्रेनी आईएएस अधिकारी पहुचे एमपीजी कालेज, बच्चों संग मस्ती कर दी कैरियर बनाने की टिप्स

रिपोर्टर—सुनील सोनकर
मसूरी। ट्रेनी आईएएस अधिकारी पहुचे एमपीजी कालेज— एमपीजी कालेज के तत्वाद्यान में लाल बहादुर शास्त्री प्रशासनिक अकादमी के द्वारा आयोजित कैरियर काउसलिंग प्रोग्राम में ट्रैनी आईएएस अधिकारियों छात्र-छात्राओं को उनके भविश्य के साथ लक्ष्य को प्राप्त करने के टिप्स् दिये गए। वही आईएएस अधिकारियों को अपने बीच पाकर छात्र-छात्राये काफी उत्साहित दिखे ।

ट्रेनी आईएएस अधिकारी पहुचे एमपीजी कालेज

इस मौके पर सात ट्रैनी आईएएस अधिकारी राहुल पांडे, सिधार्थ जैन, चंदन, नितिन कुमार सिंह, ममता, राधिका सूरी और अनुकृति षर्मा द्वारा छात्र-छात्राओं को अपने इच्छा के अनुसार अपने भविश्य के लक्ष्य को निर्धारित करने के साथ उसको हासिल करने के लिये कार्य योजना बनाने की टिपस दी।

वहीं कालेज प्रबंध को भी कालेज मे छात्रो को बेहतर पाठन समाग्री के साथ लाइब्रेरी को अपग्रेड करने का आग्रह किया। उन्होने प्रचार्य एस.पी.जोशी से कालेज में एक नोटिस बोर्ड स्थापित कर उस पर समय समय पर कैरियर व प्रतियोगितातम्क परिक्षाओं को लेकर निकलने वाले फार्म को लगाने का आग्रह किया जिससे छात्रों को समय पर परीक्षाओं के बारे में पता लग सके।

आईएएस अधिकारियों ने कहा कि किसी भी मनुष्य के लिये किसी भी लक्ष्य को पाना मुश्किल नही है परन्तु उसके लिये सच्ची लगन और सही दिशा होनी चाहिए। वहीं व्यक्ति के लिये सबसे मुश्किल दौर तब होता है जब वह पहली बार में सफल नहीं होता। ऐसे में उनको मायूस नही होना चाहिये और अपने लक्ष्य को पाने के लिये और मेहंनत करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति के जीवन में उम्र के कुछ पड़ाव होते हैं जो करियर संबंधी फैसलों के लिहाज से सबसे महत्वपूर्ण होते हैं। ऐसे में सही समय में सही फैसला लेना चाहिये।

यह भी पढ़े: सिक्किम को PM मोदी की सौगात, पाक्योंग एयरपोर्ट का किया उद्घाटन

अधिकारियों ने कहा कि कांउसलिंग के माध्यम से किसी भी छात्र के उसके डोमेन में उसके अनुरूप बेहतर विकल्पों को तलाशा जाता है। काउंसलिंग द्वारा छात्रों की क्षमताओं का आकलन, संबंधित क्षेत्र में करियर के विकल्प तलाशना और भविष्य का रोड मैप तैयार किया जाता है। उन्होने कहा की प्रत्येक व्यक्ति की रुचियां अलग-अलग होती हैं। सभी के काम करने का तरीका अलग होता है। ऐसे में हरेक व्यक्ति अपनी रुचि, स्किल के मुताबिक करियर का चयन करने की कोशिश करता है और उसको अपना भविश्य भी अपनी रूचि के अनुसार निधारित करना चाहिये।

अधिकारियों ने बताया की सोसाइटी फार सोशल सर्विस के तहत आईएएस अधिकारी समाज हित में कई कार्य करते है। जो उनके ट्रेनिग का एक भाग है। जिसके तहत वह कालेज के छात्रों के कैरियर के बारे में जानकारी देकर अपने आईएएस बनने के सफर तक के अनुभवों को भी साझा कर रहे है, उन्होने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत भी उनके द्वारा लोगो को विभिन्न कार्यक्रम संचालित कर लोगो को साफ सफाई के बारे में लगातार जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है। वही स्कूल में जाकर छोटे छोटे बच्चों से भी वह मुलाकत कर उनका साफ सफाई के बारे में जानकारी देदेकर उनको जागरूक करने का काम करती है।

छात्रों ने कहा कि अपने बीच आईएएस अधिकारियों को पाकर बहुत खुश हैं वहीं उनके द्वारा कैरियर को बनाने के लिये दिए गए टिप्स से उनको काफी लाभ मिलेगा । उन्होने कहा की अधिकारियों द्वारा उनको सही समय पर सही निर्णय के साथ सही विषयों को चुनने के बारे में बताया गया। वहीं समय—समय पर प्रतियोगितात्मक परिक्षाओं में भी प्रतिभाग करने लिये कहा गया। उन्होने बताया की सफलता का कोई शार्टकट नहीं होता, ऐसे में अपने कैरियर को बनाने के लिये लगातार मेहनत करती रहनी चाहिये।

प्रधानाचार्य एसपी जोशी ने बताया की उनके द्वारा छात्र-छात्राओं के मार्गदर्षन के लिये कालेज में आईएएस अधिकारियों को बुलाया गया था। जिनके द्वारा बडे सरल तरीके से बच्चों को उनके कैरियर को बनाने के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होने कहा कि करियर जिंदगी का सबसे अहम फैसला होता है। ऐसे में इसका चुनाव करते समय सावधानी बरतनी चाहिए। प्रमुख बात यह भी है कि करियर काउंसलर आपके सामने करियर के विकल्प रखता है। अंतिम फैसला छात्र का ही होता है कि उसे कौन सा करियर चुनना है। उन्होने कहा कि आईएएस अधिकारियों द्वारा कालेज में कुछ सुझाव दिये गए थे जिनको वह कोशिश करेगे की उनपर अमल किया जा सके जिससे छात्रों को लाभ मिल सके।

=>
LIVE TV