Monday , September 24 2018

सोलर पैनल घोटाले में घिरे ओमन चांडी ने कहा, जनता मेरे साथ

सोलर पैनलतिरुअनंतपुरम| केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने शनिवार को कहा कि 2013 के सोलर पैनल घोटाले का आरोप लगने के बाद भी जनता व कांग्रेस पार्टी उनके साथ खड़ी है। उन्होंने वर्तमान मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन की ओर से मामले की न्यायिक जांच को लेकर लिए गए फैसले पर हैरानी जताई। रिपोर्ट पेश करने के लिए 9 नवंबर को राज्य विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया है।

चांडी ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “उन्हें इसको लेकर कोई घबराहट नहीं है क्योंकि रिपोर्ट में उतना कुछ भी नहीं है जितना कि मुख्यमंत्री ने इस महीने अपनी प्रेसवार्ता में कही है। मामले में आरोप लगने के बाद पहली बार मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि रिपोर्ट सार्वजनिक होने दीजिए। मुझे हर स्तर पर पार्टी का पूरा समर्थन प्राप्त है।”

इलेक्ट्रिसिटी विधेयक के विरोध में विद्युत कर्मी करेंगे हड़ताल

मुख्यमंत्री विजयन ने मामले में चांडी को मुख्य आरोपी बताते हुए इसकी जांच के लिए न्यायमूर्ति जी सिवाराजन की अध्यक्षता में न्यायिक आयोग का गठन किया था। चांडी ने कहा कि इस गड़बड़ी के लिए विजयन को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।

सोलर पैनल घोटाले ने 2013 में खूब सुर्खियां बटोरी थीं। मामले में कथित रूप से तत्कालीन मुख्यमंत्री चांडी समेत आला दर्जे के अधिकारियों से रिश्ते का हवाला देकर व्यवसायियों को ठगने के आरोप में सरिता नायर और उसके साझेदार बीजू राधाकृष्णन को गिरफ्तार किया गया था।

इस महीने 11 अक्टूबर को विजयन ने एक प्रेसवार्ता के दौरान आयोग की जांच रिपोर्ट आने व उस संबंध में सरकार की ओर से की गई कार्रवाई की भी घोषणा की थी। उन्होंने बताया था कि सरकार की ओर से कार्रवाई करते हुए चांडी के खिलाफ आपराधिक मामले समेत भ्रष्टाचार व यौन उत्पीड़न के आरोप दर्ज किए गए हैं।

चांडी ने कहा कि हम रिपोर्ट से भयभीत नहीं हैं क्योंकि राजनीतिक दल के नेताओं की ओर से किसी भी प्रकार के साक्ष्य नहीं दिए गए हैं।

उन्होंने कहा कि पार्टी के नेताओं का समर्थन होने के साथ-साथ उन्हें कानूनी सहायता देने की बात भी कही गई है। मैं इस मामले में कानूनी लड़ाई लड़ूंगा जबकि यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट यानी संयुक्त प्रजातांत्रिक गठबंधन (यूडीएफ) की ओर से राजनीतिक तौर पर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

शिष्टाचार संबंधी खबरें तथ्यों से परे: यूपी सरकार

मामले की जांच के लिए पुलिस महानिदेशक राजेश दिवान की अगुवाई में एक विशेष जांच दल का गठन करने का आदेश दिया गया था। लेकिन इसके दस दिन बाद भी विजयन सरकार की ओर से जांच की घोषणा को लेकर कुछ नहीं कर पाए हैं। जाहिर है कि तीसरे पक्ष से कानूनी राय मांगी गई है।

दो बार प्रदेश की सत्ता संभालने वाले पूर्व मुख्यमंत्री चांडी 31 अक्टूबर को 73 साल के हो जाएंगे वह 1970 से कोट्टायम जिले के पुथुपल्ली विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे हैं।

=>
LIVE TV