मंदिरों में मिलने वाला ये पेड़, जड़ से उतार देगा सांप का जहर

नई दिल्ली। पीपल भारत, नेपाल, श्रीलंका, चीन और इंडोनेशिया में पाया जाने वाला बरगद की जाति का एक विशालकाय वृक्ष है। पीपल को भारतीय संस्कृति में महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है। सोमावती और अमावस्या के दिन इस पेड़ की पूजा की जाती है। पीपल के पेड़ में तमाम तरह के औषधीय गुण पाए जाते हैं जिससे कई तरह के रोगों का उपचार किया जा सकता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं पीपल के पत्तों के फायदों के बारे में-

पीपलसांप काटने पर

यदि किसी इंसान को सांप काट ले, तो पीपल की मदद से उसकी जान बचाई जा सकती है। इसके लिए पीपल की दो पत्तियों को तोड़कर जिस इंसान के सांप काटा हो उसके दोनों कानों में डालें। ध्यान रहे कि कान का पर्दा न फटे। अब पत्तियों को जोर से पकड़े रहें। ऐसा इसलिए क्योंकि जब आप पत्तियों को कान के अंदर डालेंगे तो उसका उंदर की तरफ से खिचाव बढ़ेगा।

जब कुछ देर के बाद खिचाव कम हो जाए तो इन पत्तों को निकालकर दोनों कानों में दूसरा पत्ता डालें। इस तरह 30 से 40 पत्तियां लगाने के बाद सांप का जहर उतर जाएगा। कान से निकाली गई सभी पत्तियों को जमीन के अंदर दफना दें क्योंकि इनमें सांप का जहर घुल चुका है।

यह भी पढ़ें-पूरे दिन में इस ‘6 घंटे’ रहो भूखे, बॉडी में बंद हो जाएगा जहर बनना

इस उपचार को करने के बाद आप रोगी को डॉक्टर के पास ले जा सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे कि इस उपचार को तभी अजमाए जब आस-पास प्राथमिक उपचार की कोई संभावना न हो।

गर्भाशय में संक्रमण

जिन महिलाओं को गर्भाशय में संक्रमण की वजह से संतान-सुख नहीं मिलता उनके लिए पीपल वरदान की तरह होता है। ऐसी महिलाएं पीपल के फल को सुखाकर उसका पाउडर बना लें। अब इस पाउडर का नियमित रूप से सेवन करें। ऐसा करने से आपको निश्चित तौर पर संतान का खुख मिलेगा।

यह भी पढ़ें-पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में पाई जाती है ये गंभीर बीमारी, ऐसे करें बचाव

कमजोरी, थकान

यदि किसी भी उम्र के लोगों को कमजोरी या थकान महसूस होती है तो वो लोग पीपल के फलों का पाउडर बनाकर बराबर मात्रा में मिश्री के साथ मिलाकर सुबह-शाम एक चम्मच सेवन कर सकते हैं। इसको खाने से आपकी शारीरिक कमजोरी दूर होती है और शरीर को ताकत मिलती है।

=>
LIVE TV