विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप में सिंधु ने रखी भारत की उम्मीद बरकरार 

नानजिंग। भारत की अग्रणी महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पी.वी. सिंधु ने विश्व चैम्पियनशिप में देश की पदक जीतने की उम्मीदों को बरकरार रखा है। सिंधु शुक्रवार को अपना मुकाबला जीतने वाली इकलौती भारतीय रही। उन्होंने क्वार्टर फाइनल में चिर-प्रतिद्वंद्वी जापान नोजोमी ओकुहारा को सीधे गेमों में मात देकर अगले दौर में प्रवेश किया।

सिंधु

वहीं महिला एकल वर्ग में सायना नेहवाल को निराशा हाथ लगी और वह क्वार्टर फाइनल में स्पेन की दिग्गज कैरोलीना मारिन से हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई। इसके अलावा, पुरुष एकल वर्ग में बी.साई. प्रणीत और मिश्रित युगल वर्ग में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी को भी हार का सामना करना पड़ा।

वल्र्ड रैंकिंग में तीसरे पायदान पर मौजूद सिंधु और ओकुहारा के बीच रोमांचक मुकाबला 58 मिनट तक चला।

पिछले साल विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप के फाइनल में सिंधु को ओकुहारा के हाथों हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इस बार वह जीत हासिल करने में कामयाब रही। वल्र्ड नम्बर-7 ओकुहारा ने सिंधु को पहले गेम में कड़ी टक्कर दी, एक समय स्कोर 8-8 से बराबर था लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने आक्रामकता दिखाई और गेम को 21-17 से अपने नाम किया।

यह भी पढ़ेंःदुष्कर्मियों को फांसी दिलाने वाले पुलिस अधिकारियों को शिवराज सरकार ने किया सम्मानित

दूसरे गेम में ओकुहारा ने दमदार शुरुआत की और 4-0 की बढ़त बना ली। इस बार भी सिंधु ने शानदार वापसी की और स्कोर को 12-12 से बराबर कर दिया। इसके बाद, दोनों खिलाड़ियों ने गेम में कई बार बढ़त बनाई लेकिन अंतिम क्षणों में सिंधु ने संयम से काम लिया और 21-19 से जीत दर्ज की।

सेमीफाइनल में सिंधु का मुकाबला शनिवार को जापान की अकाने यामागुची से होगा।

बी.साई. प्रणीत को 39 मिनट तक चले मुकाबले में जापान के केंटो मोमोटा ने प्रणीत को 21-12, 21-12 से हराया। वल्र्ड नम्बर-7 मोमोटा के खिलाफ प्रणीत की यह पहली हार है। इससे पहले प्रणीत ने जापान के खिलाड़ी के विरुद्ध दो मैच खेले थे और दोनों में जीत हासिल की थी।

प्रणीत मैच की शुरुआत से ही जापानी खिलाड़ी के सामने असहज नजर आए। पहले गेम में मोमोटा ने उन्हें 21-12 से शिकस्त दी। दूसरे गेम में प्रणीत ने सकारात्मक शुरुआत की और एक समय स्कोर 6-6 से बराबरी पर थे। इसके बाद, मोमोटा ने बेहतरीन खेल दिखाया और पहले गेम की तरह इस गेम में भी 21-12 से जीत दर्ज की।

यह भी पढ़ेंःऋणशोधन और दिवालिया संहिता में संशोधन करेगी सरकार, साबित होगा ‘गेमचेंजर’

वल्र्ड नम्बर-10 सायना महिला एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में स्पेन की दिग्गज कैरोलीना मारिन से हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई। रियो ओलम्पिक की स्वर्ण पदक विजेता मारिन ने सायना को क्वार्टर फाइनल में केवल 31 मिनटों के भीतर सीधे गेमों में 21-6, 21-11 से मात दी।

सायना इसके साथ ही मारिन के खिलाफ अपने करियर का पांचवां मुकाबला हारी हैं। ऐसे में सायना और वल्र्ड नम्बर-8 मारिन के बीच मुकाबलों का स्कोर 5-5 से बराबर हो गया है।

मिश्रित युगल वर्ग में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी को भी हार का सामना करना पड़ा।

अश्विनी और सात्विक की जोड़ी को चीन की झेंग सिवेई और हुआं कियोंग की जोड़ी को सीधे गेमों में 21-17, 21-10 से हराकर बाहर कर दिया। दोनों जोड़ियों के बीच यह मुकाबला 36 मिनट तक चला।

LIVE TV