Thursday , November 15 2018

#Me Too के चक्कर में अाखिरकार एम जे अकबर को छोड़ना पड़ा मंत्री पद, दिया इस्तीफा

नई दिल्ली. यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना कर रहे एमजे अकबर ने बुधवार को विदेश राज्य मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। उनके खिलाफ अब तक 16 महिलाओं ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं। 20 महिलाएं उनके खिलाफ गुरुवार को पटियाला हाउस कोर्ट में गवाही देने के लिए तैयार हैं।

एम जे अकबर

बता दें कि अकबर ने प्रिया रमानी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा किया है। इस पर गुरुवार को पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई होगी। प्रिया के एक ट्वीट के बाद से ही अकबर के खिलाफ आरोपों का सिलसिला शुरू हुआ था। अकबर ने 97 वकीलों को हायर किया है, इनमें से 6 पैरवी करेंगे।

ak

हालांकि एमजे अकबर ने अपने ऊपर लगे आरोपों को सिरे से खारिज किया है। उनका कहना है कि वो अपनी लड़ाई कोर्ट में लड़ेंगे।

यह भी पढ़ें- पर्रिकर के उत्तराधिकारी के तौर पर ये नाम आया सामने, कांग्रेस भी रह गई हैरान

गौरतलब है कि 20 महिला पत्रकारों ने एक संयुक्त बयान जारी कर कहा, ‘‘प्रिया रमानी इस लड़ाई में अकेली नहीं हैं। हम मानहानि मुकदमे की सुनवाई कर रही अदालत से अनुरोध करते हैं कि यौन उत्पीड़न से जुड़ी हमारी गवाही भी सुनी जाए।’’

इस संयुक्त बयान पर प्रिया रमानी के अलावा जिन 19 महिला पत्रकारों ने दस्तखत किए हैं।

=>
LIVE TV