#METOO: दबंग गर्ल भारत में बदलाव से ज्यादा शोरशराबा

मुंबई | भारत में मीटू मूवमेंट का आगाज हो चुका है और यौन उत्पीड़न को झेल चुकीं कई महिलाओं ने इस बारे में खुलकर बोला है। इस अभियान ने सभी के लिए कार्यस्थल पर एक सुरक्षित माहौल प्रदान करने जैसे मुद्दे पर बहस को शुरू कर दिया है, लेकिन अभिनेत्री मलाइका अरोड़ा का मानना है कि फिलहाल इस बारे में वास्तव में बदलाव आने के बजाय इसे लेकर शोरशराबा ज्यादा है।

Malaika-Arora-Khan

मलाइका ने भारत में मीटू मूवमेंट पर हो रही चर्चा व इससे आए बदलाव के बारे में पूछे जाने पर मुंबई से फोन पर आईएएनएस को बताया, “मुझे ज्यादा बदलाव नजर नहीं आ रहा है। मैं लोगों की बातों को सुन रही हूं। मुझे लगता है कि बदलाव की अपेक्षा इसे लेकर शोरशराबा कहीं ज्यादा है।”

चेहरे को फैशियल की रंगत से भी ज्यादा यूं चमकाएगा, जानें और भी फायदे

हॉलीवुड में मीटू मूवमेंट का जबरदस्त असर दिखने के बाद तनुश्री दत्ता द्वारा अभिनेता नाना पाटेकर पर फिल्म ‘हॉर्न ओके’ की शूटिंग के दौरान छेड़खानी करने का आरोप लगाने के बाद बॉलीवुड में भी इस मूवमेंट ने जोर पकड़ा और कई महिलओं ने अपनी दास्तां बयां की।

 

कई बड़े नामों जैसे विकास बहल, चेतन भगत, गुरसिमरन खंबा, कैलाश खेर, रजत कपूर, आलोक नाथ, अनु मलिक और साजिद खान पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगे। हालांकि, मलाइका का कहना है कि इस अभियान को फिलहाल अभी बहुत दूर जाना है।

एक बेटे की मां मलाइका ने कहा, “अगर हम मनोरंजन उद्योग की बात कर रहे हैं तो बहुत कुछ होता दिखाई दे रहा है। लोग इस बारे में बात कर रहे हैं। लेकिन, वास्तविक बदलाव के लिए या लोगों द्वारा आगे आकर इस बारे में कुछ करने और अभियान को सफल करने के लिए मानसिकता में बदलाव की जरूरत है और यह बदलाव रातोरात नहीं आ सकता।”

मालइका इन दिनों टीवी शो ‘इंडियाज नेक्स्ट टॉप मॉडल-4’ करती नजर आ रही हैं। इसका प्रसारण एमटीवी पर होता है।

=>
LIVE TV