भारत का चाइनामैन पहुंचा बच्चों के बीच, बताया जीत का मंत्र

रिपोर्ट- शशांक

कानपुर। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी और भारतीय क्रिकेट टीम के चाइनामैन बॉलर कुलदीप यादव कानपुर के एक स्कूल में क्रिकेट अकादमी के उद्घाटन समारोह में पहुँचे। कुलदीप ने मीडिया से बात करते हुए मीटू पर बोले कि मी टू के लिए अभी वो बहुत छोटे है। फेमस सेलिब्रिटी के लिए ये बहुत खराब है , जो लोग लगा रहे है वो सही भी हो सकते है और गलत भी।

BOWLING

क्रिकेट अकादमी के उद्घाटन के बाद कुलदीप ने बच्चो को गेंदबाजी और बल्लेबाजी के गुर सिखाए और बच्चों को बताया कि बल्लेबाज कैसा भी हो बॉलर का ध्यान विकेट लेने पर होना चाहिए। स्कूल में चाइनामैन बॉलर कुलदीप को देखकर बच्चे उत्साहित दिखे।

कुलदीप ने बच्चो को गेंदबाजी के टिप्स दिए , गेंदबाजी करते समय गेंद को कैसे पकड़ना है। गेंद को घुमाने के साथ किस जगह डालना है। कुलदीप ने बच्चों से कहा अगर बल्लेबाजी करते हो तो उस पर पूरा ध्यान दो अगर गेंदबाजी करते हो तो रोज पसीना बहाओ।

मीडिया से बात करते हुए कुलदीप से हाल में हुई वेस्टइंडीज श्रृंख्ला में उनकी शानदार गेंदबाजी पर सवाल पूछा तो मुस्कुराते हुए कुलदीप बोले कि किसी भी टीम के विरुद्ध खिलाड़ी चाहता है कि उसका दबदबा बना रहे।

बल्लेबाज को पढ़ कर बॉल डालता हूँ , मिडिल आर्डर में अच्छे ओवर डालकर प्रेशर बनाता हूँ। आगे आने वाली सीरीज में बोलिंग में वेरिएशन चेंज नहीं करूँगा , बस गेंदबाज को अपनी बोलिंग वेरिएशंस की स्ट्रेंथ पता होनी चाहिए।

सोचा नहीं था फिर कभी क्रिकेट खेल पाऊंगी : मारूफ

अभी तक ऐसा कोई बल्लेबाज नहीं जिससे मुझे परेशानी हुई हो। यादगार विकेट टेस्ट क्रिकेट का पहला विकेट रहा वैसे मैक्वेल और डेविड वार्नर का विकेट रहा। वर्ल्डकप से पहले ऑस्ट्रेलिया सीरीज बहुत महत्वपूर्ण होगी। क्रिकेट खेलने के लिए पैशन होना चाहिए , क्रिकेट के सपने आने चाहिए , क्रिकेट में तभी सफल होंगे।

=>
LIVE TV