व्हाट्सएप ग्रुप पर चल रहे एक मैसेज के कारण जारी हुआ हाई अलर्ट, बदला लेने की फिराक में आतंकी

नई दिल्ली| देश की राजधानी दिल्ली को व्हाट्सएप ग्रुप पर चल रहे एक मैसेज के बाद हाई अलर्ट पर रखा गया है। खुफिया एजेंसी का मानना है कि ये मैसेज आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का है। मैसेज में कहा गया है कि आतंकी संगठन दिल्ली के संवेदनशील ठिकानों पर हमला कर अपने कमांडर की मौत का बदला लेने के फिराक में जुटे हुए हैं। बता दें कि उसे बीते महीने जम्मू कश्मीर में मारा गया था।

व्हाट्सएप ग्रुप पर चल रहे एक मैसेज के कारण जारी हुआ हाई अलर्ट, बदला लेने की फिराक में आतंकी

खुफिया एजेंसी ने मंगलवार को एक पत्र जारी किया है जिसपर 13 नवंबर की तारीख है। उसमें सुरक्षा बलों की खुफिया विंग्स से कहा गया है कि हाई अलर्ट बनाए रखें और सक्रिय रहें।

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक उसके पास उस लेटर की एक कॉपी है। जिसमें लिखा है, ‘पाकिस्तानी नागरिक अमीर हमजा द्वारा जारी मैसेज के मुताबिक, व्हाट्सएप ग्रुप ‘जैश कम्युनिकेशन सेंटर’ में मोबाइल नंबर का उपयोग कर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी दिल्ली के सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमले की योजना बना रहे है। ताकि 30 अक्तूबर को पुलवामा में मारे गए कमांडर उस्मान एलिआस हुजैफा की मौत का बदला ले सकें।’
अमेठी में स्मृति ईरानी की सौगात, कांग्रेस ने बताया मोदी का दबाव
लेटर में लिखा है, हमजा ने दावा किया है कि वह जैश-ए-महोम्मद की स्टूडेंट विंग का हिस्सा है, जो पाकिस्तान के कराची में स्थित है। दो जैश-ए-मोहम्मद के कार्यकर्ताओं में से एक उस्मान पर संदेह है कि वह जैश प्रमुख मसूद अजहर का भतीजा था।

खतरे को देखते हुए कई सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर लेटर भेजे गए हैं। जैसे साआईएसएफ, नेशनल सिक्योरिटी गार्ड, रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स और दिल्ली पुलिस।

अमेठी में स्मृति ईरानी की सौगात, कांग्रेस ने बताया मोदी का दबाव
लेटर में परामर्श देते हुए लिखा है, ‘निवेदन है कि दिल्ली-एनसीआर स्थित सभी यूनिट कमांडरों को आवश्यक निर्देश जारी किए जाएं। जानकारी साझा करने के लिए स्थानीय पुलिस और खुफिया एजेंसी से निरंतर संपर्क बनाए रखें।’

सेल टैक्स टीम पर हमला, दो गिरफ्तार

दिल्ली के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सभी को सतर्क रहने को कहा गया है।

=>
LIVE TV