Sunday , August 19 2018

मतगणना के बाद बाजी पलटने के आसार, भाजपा के हाथों से फिसल रहा कर्नाटक

नई दिल्ली। कर्नाटक चुनाव में लगा एडी चोटी का जोर जो है सो है, लेकिन सियासी बिसात पर पत्ते पलटने का दौर शुरू हो चुका है। चुनावों के सभी नतीजे सामने आ चुके हैं। नतीजों के मुताबिक़ भाजपा ने राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बनकर एक नया इतिहास रचा। वहीं कांग्रेस और जेडीएस में सांठ-गांठ से मामला पलटने की पूरी-पूरी उम्मीद भी दिखाई दे रही है।

यह भी पढ़ें : कर्नाटक चुनाव : कांग्रेस-जेडीएस हुए एक, त्रिशंकु सरकार आने की पूरी उम्मीद

कर्नाटक चुनाव

हालांकि मौजूदा आंकड़ों में कांग्रेस पार्टी सिर्फ 78 सीटों पर ही सिमट गई और जेडीएस के खाते में 38 सीटें गिरी। वहीं भाजपा की झोली में 104 सीटें आई, जिनके बलबूते भाजपा का डंका कर्नाटक में भी छा गया। लेकिन बनते बिगड़ते आसार भाजपा के खिलाफ जाते दिखाई देने लगे हैं।

यह भी पढ़ें : पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव में भड़की हिंसा, दस की मौत, गृहमंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट

खबरों के मुताबिक़ पहले कांग्रेस जेडीएस के समर्थन की बात कर रही थी। वहीं अब जेडीएस ने भी कांग्रेस के समर्थन में जाने का ऐलान कर दिया है। अन्य दो सीटों के साथ चुनावी बारिश में हवा के झोंके के साथ कदम बढ़ाने की कोशिश में है।

बताया जा रहा है कि इस बाबत जेडीएस और कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने राज्यपाल से मिलने की भी कोशिश की। लेकिन राज्यपाल ने मुलाक़ात से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि नतीजे खत्म होने के बाद ही इस मामले पर विचार होगा।

अब जब आंकड़े साफ़ हो गए हैं तो भाजपा की जीत को हार में बदलने के लिए तैयारियां जोरो पर की जा रही हैं।

हालांकि राज्य की जनता ने किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं दिया है। एक तरफ भाजपा राज्य में सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते सरकार बनाने का दावा कर रही है तो वहीं कांग्रेस जेडीएस के साथ मिलकर सरकार बनाने का दावा ठोक रही है।

तीनों पार्टियों के नेता राज्यपाल से मिलने राजभवन पहुंचे हैं। अब कर्नाटक में किसकी सरकार बनेगी यह देखने वाली बात होगी।

देखें वीडियो :-

=>
LIVE TV