AMU में बवाल, आगजनी और फायरिंग में एक छात्र की मौत

firing-in-amu_1461450925अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में शनिवार की रात जमकर बवाल हुआ। छात्रों ने प्रॉक्टर ऑफिस को फूंकने के बाद वीसी लॉज और गेस्ट हाउस के बाहर आग लगा दी। पुलिस और छात्रों को बीच आमने-सामने की फायरिंग हुई। देर रात तक कैंपस में प्रॉक्टर की जीप समेत कई वाहन जला दिए गए और अफरा-तफरी मची रही।

मामला उस समय भड़का जब एएमयू के मुमताज हॉल के एक छात्र के साथ मारपीट कर उसके कमरे में कुछ छात्रों ने आग लगा दी। जिसके बाद प्रॉक्टर ऑफिस पर दो छात्र गुटों की भिड़ंत के दौरान जमकर गोलियां चलीं, जिसमें दो छात्र गोली लगने से घायल हो गए। जिसमें एक छात्र के मौत की खबर है।

भिड़ंत के दौरान कई थानों की पुलिस और प्रॉक्टर ऑफिस के कर्मचारी भी मौजूद थे, जिन्होंने इधर-उधर छिप कर अपनी जान बचाई। घायलों को मेडिकल कॉलेज ले जाया गया तो रात करीब 12 बजे वहां भी फायरिंग शुरू हो गई और एक छात्र को पकड़कर जमकर पीट दिया।

रात करीब 10 बजे शुरू हुए इस घटनाक्रम के बाद कैंपस में अफरा-तफरी मच गई। प्रॉक्टर ऑफिस, जेएन मेडिकल कॉलेज और वीसी लॉज पर छात्रों का जमघट लगा रहा। मौके पर आरएएफ बुला ली गई। छात्र आजमगढ़ गुट और संभल गुट के बताए जा रहे हैं। देर रात तक कैंपस में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई थी।

रात करीब डेढ़ बजे छात्रों ने प्रॉक्टर ऑफिस में आग लगा दी, जिसमें फर्नीचर और सारा सामान जल गया। छात्रों ने प्रॉक्टर ऑफिस की जिप्सी और आधा दर्जन बाइकों को फूंक दिया। प्रॉक्टर ऑफिस की दोनों मंजिलें धू-धू कर जल उठीं। पुलिस ने दमकल बला लीं और आग बुझाने का काम शुरू हो गया।

एएमयू के मुमताज हॉल के रूम नंबर 12 में रह रहे मुरादाबाद निवासी एमए के छात्र मोहसिन ने शनिवार की रात करीब 10 बजे प्रॉक्टर ऑफिस पहुंचकर जानकारी दी कि कुछ छात्र और बाहरी युवकों ने उसे पीटकर उसके कमरे में आग लगा दी है और पंखे आदि सामान को तोड़ दिया है। उसके हाथ में चोट लगी थी।इसी दौरान छात्र के मोबाइल पर धमकी भरा फोन आया तो उसने प्रोक्टर ऑफिस के कर्मचारियों को धमकी सुनवा दी। कुछ ही देर बाद बड़ी संख्या में छात्र और बाहरी युवक प्रॉक्टर ऑफिस पहुंच गए और वहां जमकर नोकझोंक हुई। छात्र प्रॉक्टर ऑफिस के बाहर फायरिंग करते हुए भाग निकले। सूचना मिलने पर थाना सिविल लाइन और क्वार्सी की पुलिस वहां पहुंच गई।

घायल छात्र के समर्थक छात्र भी बड़ी संख्या में वहां पहुंच गए। इसी दौरान दूसरे गुट के छात्र भी वहां आ गए और दोनों गुटों के छात्रों में जमकर फायरिंग हुई। जिसमें एक छात्र की मौत हो गई, वहीं दो अन्य घायल हो गए। वहां मौजूद पुलिसकर्मियों और प्रॉक्टर ऑफिस के कर्मचारियों ने इधर-उधर छिपकर जान बचाई।

फायरिंग में मेहताब निवासी गाजीपुर समेत दो छात्र घायल हो गए। मेहताब एएमयू का एमपीएड का पूर्व छात्र बताया जा रहा है। पुलिसकर्मी तीनों घायल छात्रों को मेडिकल कॉलेज ले गए। कुछ ही देर में बड़ी संख्या में दोनों गुटों के छात्र मेडिकल कॉलेज पहुंच गए और वहां जमकर फायरिंग हुई। इस हंगामे में एक छात्र के मौत की खबर है।

इस घटना की जानकारी पर पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया और आरएएफ समेत सिविल लाइंस, क्वार्सी थानों की पुलिस वहां पहुंच गई। डीआईजी भी मेडिकल कॉलेज के लिए रवाना हो गए। एक छात्र की हालत अत्यंत गंभीर बताई जा रही है।

रात करीब डेढ़ बजे छात्रों ने प्रॉक्टर ऑफिस में आग लगा दी, जिसमें फर्नीचर और सारा सामान जल गया। छात्रों ने प्रॉक्टर ऑफिस की जिप्सी और आधा दर्जन बाइकों को फूंक दिया। प्रॉक्टर ऑफिस की दोनों मंजिलें धू-धू कर जल उठीं।

बयान
एएमयू कैंपस के मुमताज हॉल और प्रॉक्टर ऑफिस पर छात्रों के बीच मारपीट फायरिंग हुई है, जिसमें छात्र घायल भी हुए हैं। कैंपस के अंदर और बाहर फोर्स तैनात कर दिया है। तहरीर के आधार पर कार्रवाई होगी।
– राजीव सिंह, पुलिस क्षेत्राधिकारी, तृतीय

बयान
एएमयू कैंपस में हुई घटना के बाद हर स्थिति को नियंत्रित करने के प्रयास किए जा रहे हैं। दो गुटों में हुए झगड़े के बाद बवाल बढ़ा है। पुलिस फोर्स और अफसरों की तैनाती कर दी गई है।
– गोविंद अग्रवाल, डीआईजी

=>
LIVE TV