Friday , September 21 2018

AIIMS ने जारी किया मेडिकल बुलेटिन, अभी अस्पताल में ही रहेंगे अटल जी

नई दिल्ली: भाजपा के सबसे बड़े नेता अटल बिहारी वाजपेयी का एम्स में इलाज चल रहा है. लोवर रेस्पाइरेटरी ट्रैक्ट इंफेक्शन और किडनी संबंधी दिक्कतों के बाद वाजपेयी को भर्ती कराया गया है. वह आईसीयू में हैं. उनका डायलिसिस चल रहा है.

पूर्व प्रधानमंत्री की तबीयत पर एम्स ने मेडिकल बुलेटिन जारी कर दिया है. एम्स ने कहा है कि अटल जी की तबीयत स्थिर है. उनका इलाज इलाज चल रहा है और वो ठीक हो रहे हैं. जब तक उनकी तबीयत ठीक नहीं होती है वह अस्पताल में ही रहेंगे.

ख़बरों के मुताबिक़, अटल जी को डायलिसिस होने के बाद यूरिन पास हुआ है.  अभी उन्हें आईसीयू में ही रखा जाएगा.

अटल बिहारी वाजपेयी

इससे पहले, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत भाजपा के कई दिग्गज नेता सोमवार रात पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का हालचाल जानने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) पहुंचे. वाजपेयी एम्स में रुटीन स्वास्थ्य जांच के लिए भर्ती हुए हैं.

कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने ट्वीट कर वाजपेयी की कुशलता की कामना की. उन्होंने कहा, “हम वाजपेयी जी के अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना करते हैं.”

एम्स ने अपने बयान में कहा कि वरिष्ठ नेता की हालत ठीक व स्थिर है और जांच चल रही है.

यह भी पढ़ें : पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तबियत खराब, AIIMS में भर्ती

वाजपेयी भारतीय जनता पार्टी के नेता हैं, लेकिन उनका हाल जानने के लिए सबसे पहले कांग्रेस अध्यक्ष पहुंचे. यह चर्चा जब जोर पकड़ने लगी तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी एम्स पहुंचे. उन्होंने डॉक्टरों से वाजपेयी के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी हासिल की. 50 मिनट तक रुकने के बाद मोदी रात साढ़े आठ बजे के करीब एम्स से निकल गए.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने भी उनका हाल जाना. भाजपा के वयोवृद्ध नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी भी एम्स पहुंचे. उनके बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी एम्स पहुंच गए.

भाजपा की तरफ से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है कि वाजपेयी जी को सिर्फ रूटीन चेकअप के लिए भर्ती कराया गया है. अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत पिछले काफी समय से खराब है, जिसके कारण वह अपने घर में ही थे.

यह भी पढ़ें : सियासत का वो ‘अटल’ नाम जिसके हाथों पहली बार हारी कांग्रेस!

डॉक्टरों की सलाह के बाद अटल जी को एम्स में भर्ती कराया गया. उनका चेकअप एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलरिया की देखरेख में चल रहा है. इससे पहले उनका रूटीन चेकअप घर पर ही होता था, लेकिन इस बार उन्हें अस्पताल ले जाया गया.

93 वर्षीय अटल बिहारी वाजपेयी डिमेंशिया से जूझ रहे हैं. वे 2009 से व्हीलचेयर पर हैं. कुछ समय पहले ही भारत सरकार ने उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया था. 25 दिसम्बर, 1924  में जन्मे वाजपेयी ने भारत छोड़ो आंदोलन के जरिए 1942 में भारतीय राजनीति में कदम रखा था.

अटल बिहारी वाजपेयी 1991, 1996, 1998, 1999 और 2004 में लखनऊ से लोकसभा सदस्य चुने गए थे. वह बतौर प्रधानमंत्री अपना कार्यकाल पूर्ण करने वाले पहले और अभी तक एकमात्र गैर-कांग्रेसी नेता हैं.

=>
LIVE TV