गुमनाम शिकायत पर घूस लेने-देने के आरोप में केहर सिंह और आशुतोष को गिरफ्तार किया

नई दिल्ली / देहरादून गुमनाम शिकायत पर घूस लेने-देने के आरोप में सोमवार को सीबीआई ने दिल्ली पुलिस के एक एसएचओ अधिकारी केहर सिंह और भ्रष्टाचार के आरोपी आशुतोष को गिरफ्तार किया। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक आशुतोष सिंह, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का ओएसडी होने का दावा कर रहा है।

बाद में आशुतोष की घर की तलाशी में सीबीआई ने नौ करोड़ की दस संपत्ति के दस्तावेज और 1.77 करोड़ की नकदी बरामद की है। सीबीआई अब आशुतोष के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज करेगी।

दरअसल, आशुतोष केंद्र सरकार के हैंडीक्रॉफ्ट और हैंडलूम एक्सपोर्ट कारपोरेशन में डिप्टी जनरल मैनेजर के पद पर था। जालसाजी की कई शिकायतें उसके खिलाफ थीं।
उसी एक करोड़ की हेरफेर की शिकायत को रफा-दफा करने के लिए केहर सिंह ने तीन लाख रुपये की मांग की थी। आशुतोष के घर पर हुई छापेमारी में दो लालबत्ती वाली लग्जरी कार की बरामदगी भी हुई है।

सीबीआई की पहली छापेमारी में 40 लाख रुपये नकद समेत कैबिनेट सचिवालय, गृह मंत्रालय और लोकसभा सचिवालय से संबंधित फर्जी परिचय पत्र भी मिले थे। पूर्व मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार से इस बाबत पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि आशुतोष नाम का कोई भी व्यक्ति पूर्व सीएम हरीश रावत का ओएसडी नहीं रहा।
संवाददाता :- अक्षय कुमार

=>
LIVE TV