Monday , December 5 2016
Breaking News

पुलिस की बर्बरता, निर्दोष से जुर्म कबूलवाने के लिए उधेड़ी खाल

पुलिस की बर्बरताबांदा। अपने कारनामों के लिए मशहूर उत्‍तर प्रदेश पुलिस की बर्बरता ने एक बार फिर खाकी को शर्मसार करने का काम किया है। पुलिस का जालिम चेहरा कानून का नकाब ओढ़े एक निर्दोष पर कहर बन टूटा पड़ा । इस बार जि‍ले के जसपुरा थाने में पुलिस की बर्बरता सामने आई है।

आरोप है कि‍ 21 नवंबर की रात शादी समारोह से लौट रहे चार युवकों को पुलि‍स ने पकड़ लि‍या। लूट की एक वारदात कबूल करवाने का उनपर दबाव बनाने लगी। इनकार करने पर चारों की बर्बरता से पि‍टाई कर उनके शरीर के खाल उधेड़ दि‍ए। साथ ही शांति‍भंग के आरोप में चालान कर दि‍या। मामला बांदा एसपी तक पहुंचने पर एसओ को सस्‍पेंड कर दि‍या गया है।

घटना बांदा जि‍ले के जसपुरा थाने की है। वहां 21 नवंबर की रात शादी में सलमान, सूफियान, शाहरुख और करीम बाइक से पड़ोसी गांव गए थे।

शादी से लौटते वक्‍त इन सभी को जसपुरा थाना पुलिस ने रास्ते से पकड़ लि‍या और थाने ले आई। आरोप है कि‍ वहां लॉकअप में बंदकर एसओ पंकज तिवारी, एसआई रमाशंकर, सिपाही श्रवण कुमार, नारायण यादव, अरविन्द राही, अमित कुमार और शैलेन्द्र ने चारों की चमड़े के पट्टों से रात भर पिटाई की।

इतना ही नही दो दिन पहले हुई लूट कुबूलने के लिए पुलि‍स वाले इन चारों युवकों को टॉर्चर करते रहे।

पीड़ित के परिजनों का आरोप है कि सुबह उन्हें भी पीड़ितों से मिलने नहीं दिया गया।

दिनभर लॉकअप में उनकी पिटाई की जाती रही और 151 धारा में चालान कर दिया गया।

एसपी से की शिकायत

जमानत पर बाहर आये पीड़ितों ने  25 नवंबर को एसपी से मिले और अपनी आपबीती सुनाई। उन्‍होंने आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

इस पर एसपी श्रीपति मिश्रा ने चारों पीड़ितों की मेडिकल जांच कराकर आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश दिए हैं।

साथ ही उन्‍होंने एसओ जसपुरा पंकज तिवारी को सस्‍पेंड करने का आदेश दि‍या है।

उन्‍होंने कहा कि‍ घायल पीड़ितों की तहरीर पर आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया जा रहा है। जांच के आधार पर दोषियों को दंडि‍त किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

LIVE TV