विधानसभा में कुमारस्वामी ने मानी हार , बीजेपी से कहा – आप सरकार बना सकते हैं…

विधानसभा में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने विश्वासमत पर चर्चा के दौरान कहा हैं कि 14 माह के बाद हम अंतिम चरण में पहुंच गए हैं। जहां जेडीएस-कांग्रेस सरकार के सत्ता में आने के साथ ही उसे गिराने के लिए माहौल तैयार किया जाने लगा।

 

 

बतादें की कर्नाटक भाजपा अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने गठबंधन सरकार के गिर जाने का अनुमान व्यक्त किया हैं और साथ ही कहना हैं की उनकी पार्टी राष्ट्रीय नेतृत्व के साथ विचार-विमर्श करने के बाद भावी कार्यक्रम तय करेगी। जहां राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को शुक्रवार डेढ़ बजे तक विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए कहा था।

क्या आज से पहले देखी अपने इंसानी चेहरे वाली मकड़ी , लोगों का कहना – दूसरी दुनिया का जीव…

इस विषय में कुमारस्वामी का कहना हैं की मैं किसी के आगे हाथ नहीं जोड़ूंगा लेकिन वह अब भी भगवान से यही सवाल पूछते हैं कि उन्हें ऐसी परिस्थितियों में मुख्यमंत्री क्यों बनाया गया। कुमारस्वामी ने कहा कि मैंने सत्ता के दुरुपयोग का प्रयास नहीं किया। कुमारस्वामी ने भाजपा से कहा कि चलिए चर्चा करते हैं। आप अब भी सरकार बना सकते हैं। कोई जल्दबाजी नहीं है। आप सोमवार को यह कर सकते हैं या मंगलवार को भी। मैं सत्ता का दुरुपयोग नहीं करुंगा।

खबरों के मुताबिक मुख्यमंत्री अपना विदाई भाषण देंगे, हम उसे (भाषण को) ध्यान से सुनेंगे। वहीं सदन की आज की कार्यवाही के नतीजे के आधार पर हम अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से चर्चा करेंगे और भावी कार्यक्रम तय करेंगे। उन्होंने कहा कि शुक्रवार कर्नाटक में भाजपा के लिए अच्छा दिन होगा।

भाजपा सांसद शोभा करंदलाजे ने श्री चांमुडेश्वरी देवी मंदिर की 1001 सीढ़ियां चढ़कर प्रार्थना की ताकि बीएस येदियुरप्पा राज्य के अगले मुख्यमंत्री बन सकें।
कर्नाटक के स्पीकर केआर रमेश कुमार ने कहा, ‘जो मेरे चरित्र पर सवाल उठा रहे हैं वह पीछे मुड़कर अफनी जिंदगी को देख लें। जो कोई भी मुझे जानता है वह जानता है कि मेरे पास दूसरों की तरह लाखों रुपये नहीं हैं। इस तरह के कामों के बावजूद मेरे पास एक पक्षपातपूर्ण निर्णय लेने की पर्याप्त ताकत है।

दरअसल कर्नाटक कांग्रेस के सांसद नासिर हुसैन ने कहा हैं की मुझे लगता है कि कांग्रेस पार्टी उच्चतम न्यायालय जाएगी क्योंकि राज्यपाल स्पीकर के मामले में हस्तक्षेप नहीं कर सकते, उन्हें ऐसा करने का कोई अधिकार नहीं है। राज्यपाल मनमाने ढंग से हस्तक्षेप कर रहे हैं और एक पार्टी के एजेंट के तौर पर काम करने की कोशिश कर रहे हैं।

 

 

 

 

 

=>
LIVE TV